गांव पहुंचते ही राष्ट्रपति कोविंद ने चूम ली मिट्टी

कानपुरः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज अपने गांव पहुंचे। उनके गांव का नाम परौंख है, जो यूपी के कानपुर देहात में पड़ता है। राष्ट्रपति कोविंद रविवार को जैसे ही अपने गांव पहुंचे तो हेलीपैड पर ही उन्होंने अपने गांव की जमीन को चूमा। इसे देखकर वहां मौजूद मुख्यमंत्री योगी, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और उनके सुरक्षाकर्मी भी भावुक हो गए। खुद राष्ट्रपति भी गांव की जमीन पर पैर रखते ही भावुक हो गए। इसी गांव में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को हुआ था। यहां पहुंचने के बाद राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, “मैं कहीं भी रहूं, मेरे गांव की मिट्टी की खुशबू और मेरे गांव के निवासियों की यादें सदैव मेरे हृदय में विद्यमान रहती हैं। मेरे लिए परौंख केवल एक गांव नहीं है, ये मेरी मातृभूमि है, जहां से मुझे, आगे बढ़कर, देश-सेवा की सदैव प्रेरणा मिलती रही।”
उन्होंने आगे लिखा, “मातृभूमि की इसी प्रेरणा ने मुझे हाई कोर्ट से सुप्रीम कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट से राज्यसभा, राज्यसभा से राजभवन और राजभवन से राष्ट्रपति भवन तक पहुंचा दिया।” उन्होंने कहा, “मैंने सपने में भी कभी कल्पना नहीं की थी कि गांव के मेरे जैसे एक सामान्य बालक को देश के सर्वोच्च पद के दायित्व-निर्वहन का सौभाग्य मिलेगा, लेकिन हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था ने ये कर के दिखा दिया।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

स्टाफ स्पेशल ट्रेन में आम यात्री भी चढ़े

हुगली : लॉकडाउन की वजह से राज्य में लोकल ट्रेनों का परिचालन बंद है। स्टाफ स्पेशल ट्रेनें चल रही है जिसमें आम यात्रियों को यात्रा आगे पढ़ें »

ऊपर