अब दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण फैलाना पड़ेगा पछताना – 5 साल जेल, 1 करोड़ का जुर्माना

नई दिल्ली: जहां पूरे विश्व के लिए प्रदूषण बेहद चिंता का विषय बना हुआ है, वहीं दिल्ली-एनसीआर के वायु प्रदूषण का स्तर धीरे-धीरे गंभीर होता जा रहा है। इस समस्या से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने अध्यादेश के जरिए नया कानून तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है। इस नियमों के तहत उल्लंघनकर्ताओं को 5 साल तक की सजा और 1 करोड़ रुपए तक जुर्माना या फिर दोनों का भुगतान करने का प्रावधान किया गया है।

कानून और न्याय मंत्रालय ने गुरुवार को यह अध्यादेश जारी करते हुए कहा, ‘अध्यादेश को कमिशन फॉर एयर क्वॉलिटी मैनेजमेंट इन एनसीआर एंड अजॉइनिंग एरियाज ऑर्डिनेंस 2020 कहा जाएगा। यह राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) और इसके साथ लगते इलाकों में लागू होगा। यह एनसीआर में वायु प्रदूषण से संबंधित मामलों से संबंधित है। यह एक बार में लागू होगा।’ बुधवार को राष्ट्रपति ने अध्यादेश को हरी झंडी दिखाते हुए हस्ताक्षर कर दिए हैं।

कहां कहां होगा यह अध्यादेश लागू

अध्यादेश के मुताबिक, दिल्ली से जुड़े वे इलाके जहां यह लागू हो सकता है उनमें पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश और दिल्ली-एनसीआर से सटे इलाके शामिल हैं जहां प्रदूषण का स्रोत मौजूद है और जो राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु की गुणवत्ता पर खराब असर डाल रहा है। कानून को सख्ती से लागू कराने के लिए एक कमीशन का गठन किया जाएगा, जिसमें 20 सदस्य होंगे। मंत्रालय ने कहा, ‘कमीशन की ओर से जारी किसी आदेश और निर्देश या प्रावधानों का उल्लंघन दंडनीय अपराध होगा और पांच साल तक जेल या 1 करोड़ रुपये तक जुर्माना या फिर दोनों सजा दी जा सकती है।’

जानलेवा प्रदूषण कम करना है लक्ष्य

केंद्रीय पयार्वरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और आस-पास के राज्यों में बढ़ते जानलेवा प्रदूषण पर रोक लगाने के उपाय सुझाने के लिए गठित आयोग को एक महत्वपूर्ण कदम करार दिया है। जावड़ेकर ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक सवाल के जवाब में कहा, ‘इस आयोग का गठन महत्वपूर्ण कदम है। आयोग के पास प्रदूषण से निपटने के लिए विभिन्न कदम उठाने की पूरी ताकत है। इससे राजधानी सहित आस पास के क्षेत्रों में प्रदूषण कम करने में मदद मिलेगी।’

कैसी है दिल्ली एनसीआर की वर्तमान स्थिति

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है। दिल्ली में गुरुवार दोपहर 2 बजे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 402 दर्ज किया गया। एक्यूआई का 24 घंटे का औसत बुधवार को 297, मंगलवार को 312, सोमवार को 353, रविवार को 349, शनिवार को 345 और शुक्रवार को 366 था। शून्य से 50 के बीच के एक्यूआई को ‘अच्छा, 51 से 100 के बीच को ‘संतोषजनक, 101 और 200 के बीच को ‘मध्यम, 201 से 300 तक को ‘खराब और 301 से 400 के बीच को ‘बहुत खराब तथा 401 से 500 तक को ‘गंभीर माना जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

देव दीपावली पर रोशनी में नहाया काशी

वाराणसीः स्वर्गलोक से धरती पर पधार रहे देवताओं के स्वागत को काशी पूरी तरह सज-धज कर तैयार है। देव दीपावली को लेकर यही कहा जाता आगे पढ़ें »

सावधान! दांतों में हो रही ऐसी दिक्कत तो कोरोना…

नई दिल्लीः कोरोना वायरस का इंसान के दांतों पर भी बुरा असर देखने को मिल रहा है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, कोविड-19 की चपेट में आगे पढ़ें »

ऊपर