‘बच्ची’ को बचाने के लिए पुलिस ने तोड़ा कार का शीशा, मगर गोद में लेते …

नई दिल्ली: अक्सर हम ऐसी घटनाओं के बारे में सुनते रहते हैं, जिनमें कोई न कोई कार के अंदर बंद हो जाने की वजह से दम तोड़ देता है। हाल ही में इंग्लैंड में एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने सभी के होश उड़ा दिए। दरअसल यहां कि खड़ी एक कार में पुलिस वालों को एक मासूम बच्ची दिखाई पड़ी। पुलिस ने बच्ची को बंद कार से बचाने के लिए उसका शीशा तोड़ दिया। लेकिन जब उन्होंने उसे गोद में उठाया तो उनके पैरों तले की जमीन खिसक गई।
इंग्लैंड के थॉर्नबे  में रहने वाली 36 साल की एमी मैक्क्वीलेन  अपनी बेटी डार्सी  के साथ शॉपिंग करने पहुंची थी। डार्सी के पास एलियट नाम की एक गुड़िया है जिसकी शक्ल बिल्कुल इंसानों की शक्ल से मेल खाती है। डॉर्सी ने थकने के बाद इस गुड़िया को वापस कार में रख दिया। इसके बाद बेटी और मां एक साथ मिलकर शॉपिंग करने चली गई। जब थोड़ी देर बाद एमी अपनी बच्ची के साथ शॉपिंग कर के लौटी तो उसने देखा कि वहां बहुत भीड़ जुटी है। आसपास कुछ पुलिसवाले भी खड़े हैं और कार का शीशा टूटा है। पुलिस ने बताया कि शिकायत मिलने पर जब वो कार के पास पहुंचे तो उन्होंने कार में देखा कि बच्ची बैठी है। इसलिए उन्होंने तुरंत ही शीशा तोड़ दिया, ताकि बच्ची को बचाया जा सके। असल में हुआ ये कि वहां मौजूद पुलिसवालों ने गलती से गुड़िया को बच्ची समझ लिया।
एमी ने जैसे ही ये नजारा देखा उनके होश उड़ गए। उसने कहा कि गुड़िया को उसने डार्सी के लिए गिफ्ट के तौर पर खरीदा था। वो गुड़िया भले ही बच्ची जैसी दिखती हो लेकिन मुझे इसका अंदाजा बिल्कुल नहीं था कि उसे कोई सच में इंसान समझ लेगा। हालांकि पुलिस ने अपनी गलतफेहमी के लिए सबके सामने एमी से माफी मांगी और वो उसके कांच को तोड़ने के लिए 26 हजार रुपये चुकाएंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

स्वतंत्रता दिवस पर कुछ यूं दें भाषण, होगी तालियों की बरसात

कोलकाता : 15 अगस्त 2022 को भारत अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस वर्ष केंद्र सरकार द्वारा हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा आगे पढ़ें »

ऊपर