क्या प्रधानमंत्री को मुख्यमंत्री की बात नहीं लगी अच्छी ?

कोलकाता : विक्टोरिया मेमोरियल के ऐतिहासिक मंच पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रतिवाद के बाद प्रधनामंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़े आराम से अपने वक्तव्य रखें। नेता जी के जीवन के हर पहलू को छुआ, इस देश की उपलब्धियों को गिनाया और उसमें कहीं ना कहीं नेता जी को भी शामिल किया। आत्मनिर्भरता की बात कहीं और यह भी कहा कि बंगाल इसका नेतृत्व करेगा।
कहीं ना कहीं दिखी दोनों में खटास
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा मंच पर दिया गया वक्तव्य प्रधानमंत्री को शायद चुभा और जब वह अपने भाषण को खत्म करके अपनी कुर्सी की ओर बढ़े तब दीदी उनकी ओर दो कदम आगे बढ़ी थी लेकिन प्रधानमंत्री ने कोई बात नहीं की और वह दूसरे कार्यक्रम में जाने के लिए उतर गये। राजनीतिक विश्लेषक इसे अलग-अलग तरीके से अलग-अलग मत निकाल रहे हैं लेकिन बात जब निकली है तो दूर तलक जाएगी क्योंकि अब दो बड़े नेताओं के बीच का मामला है और विधानसभा चुनाव सर पर मंडरा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शनिवार को इन कार्यों को करने से मिलता है शनिदेव का आर्शीवाद

कोलकाता : शनिदेव की शांति के लिए शनिवार का दिन अतिउत्तम माना गया है। शनिवार का दिन शनिदेव को ही समर्पित है। जिन लोगों की आगे पढ़ें »

पूजापाठ से जुड़े ये 10 नियम हमेशा रखें ध्‍यान, कभी नहीं होगा आपका नुकसान

कोलकाताः सनातन धर्म को मानने वाले लोगों के लिए पूजापाठ सबसे जरूरी क्रिया है। हिंदू धर्म के लोगों की दैनिक दिनचर्या पूजापाठ के बिना शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर