किसानों से बातचीत से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने बुलाई बैठक

नई दिल्ली : केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसान दिल्ली बॉर्डर पर 10वें दिन भी जमे हुए हैं। शनिवार को केंद्र सरकार और किसानों के बीच 5वें दौर की बातचीत होनी है। किसानों की मांगों पर चर्चा करने के लिए गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर समेत पीयूष गोयल भी प्रधानमंत्री आवास पहुंचे हैं। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि, ‘आज दोपहर 2 बजे किसानों के साथ एक बैठक निर्धारित है। मुझे बहुत उम्मीद है कि किसान सकारात्मक सोचेंगे और अपना आंदोलन समाप्त करेंगे।’ किसान संगठनों के साथ पांचवें दौर की बैठक से पहले ये मीटिंग अहम है।

आज आर पार की लड़ाई…
इस बीच, किसान संगठनों ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंकने की घोषणा की है। साथ ही 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है। किसान चिल्ला बॉर्डर (दिल्ली-नोएडा लिंक रोड) पर प्रदर्शन कर रहे हैं। एक किसान ने कहा कि अगर सरकार के साथ बातचीत में आज कोई नतीजा नहीं निकला तो फिर संसद का घेराव करेंगे। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसान पिछले नौ दिनों से अपनी मांगों को पूरा किए जाने पर अड़े हैं।

क्या है अटकलें
केंद्र सरकार के साथ चर्चा होने के बावजूद अभी तक कोई सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आया है। किसान कृषि कानून वापस लेने की मांग पर अड़े हैं, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर ठोस भरोसा चाहते हैं। वहीं केंद्र सरकार कानूनों को वापस लेने की बात तो नहीं मान रही है लेकिन किसानों की कुछ ऐसी मांग हैं जिनपर सरकार राजी होती दिख रही है। इस बीच, कांग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू गाजीपुर बॉर्डर पहुंचे। यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू किसानों के समर्थन में सुबह गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों के बीच पहुंचे।

किसानों को राहुल का समर्थन
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार का किसान एमएसपी-एपीएमसी के बिना बेहद मुसीबत में है और अब प्रधानमंत्री ने पूरे देश को इसी कुएं में धकेल दिया है। ऐसे में देश के अन्नदाता का साथ देना हमारा कर्तव्य है।

दिल्ली पुलिस की एडवाइजरी
​इस आंदोलन की वजह से स्थानीय लोगों को यातायात में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सिंधु, औचंदी, लामपुर, पियाओ मनियारी, मंगेश बॉर्डर बंद हैं। एनएच 44 दोनों तरफ से बंद है। ट्रैफिक पुलिस ने अनुरोध किया है कि यात्री कोई वैकल्पिक रास्ता चुनें। ट्रैफिक पुलिस ने कहा कि यात्री सफियाबाद, सबोली, एनएच 8 भोपरा, अप्सरा सीमा, पेरिफेरल एक्सप्रेस के माध्यम से वैकल्पिक मार्ग चुनें। झटीकरा बॉर्डर केवल टू व्हीलर ट्रैफिक के लिए खुला है। धनसा, दौराला, कापसहेड़ा, राजोखरी एनएच 8, बिजवासन/बजघेरा, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर के जरिये हरियाणा जाया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

tmc

बौखला उठे हैं भाजपा प्रवक्ता, मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ रहे हैं

तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी कहा, प्रवक्ता को बंगलादेशी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जैसे - जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे - वैसे भाजपा में बौखलाहट आगे पढ़ें »

मुख्यमंत्री के साथ हुए व्यवहार पर नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं कहा – तृणमूल

पीएम के रवैये पर तृणमूल ने जताया खेद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता आगे पढ़ें »

ऊपर