वैक्सीन लगवाने के बाद क्‍या पीरियड्स के दौरान हो रहींं ये दिक्कतें?

लंदन: कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद हल्के साइड इफेक्ट को लेकर पहले ही विशेषज्ञ स्थिति साफ कर चुके हैं कि डरने की कोई बात नहीं है। वैक्सीन का कोई अब तक गंभीर साइड इफेक्ट का मामला सामने नहीं आया है लेकिन ब्रिटेन में कई महिलों ने वैक्सीन लगवाने के बाद पीरियड से जु़ड़ी समस्याओं के बारे में बताया है। ऐसी 4,000 महिलाओं की ‘बारीकी से निगरानी’ की जा रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक 17 मई तक एस्ट्राजेनेका वैक्सीन के बाद साइड इफेक्ट या मामूली दिक्कतों के 2,734 मामले मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी के सामने आए। इसी तरह 1,158 मामले फाइजर वैक्सीन से संबंधित थे और मॉडर्ना वैक्सीन लेने वाले 66 लोगों ने मामले दर्ज कराए।
इन समस्याओं में ‘सामान्य से अधिक ब्लीडिंग’ की शिकायकत ज्यादातर महिलाओं ने की जो कोरोना वैक्सीन की डोज ले चुकी हैं। कई जानकारों का कहना है कि ऐसे और भी मामले हो सकते हैं जो रिपोर्ट नहीं किए गए। एमएचआरए ने कहा कि विशेषज्ञों ने महिलाओं को आश्वासन दिया है कि वैक्सीन के बाद पीरियड की समस्याएं आ भी रही हैं तो घबराने की जरूरत नहीं है, कोई खतरे की बात नहीं है। इसीलिए इसे संभावित साइड इफेक्ट की लिस्ट में नहीं जोड़ा गया है।
इंपीरियल कॉलेज लंदन में Reproductive Immunologist विक्टोरिया माले के मुताबिक, ‘सच तो यह है कि हर महिला पीरियड में बदलाव के बारे में नहीं बताएगी, लेकिन कई महिलाओं ने मुझे टीकाकरण के बाद पीरियड के दिनों में बदलाव के बारे में बताया। ज्यादातर महिलाओं को ज्यादा पीरियड्स हुए यानी अधिक ब्लीडिंग या ज्यादा दिनों बाद। कई महिलाओं के एक हफ्ते से ज्यादा टाइम तक ब्लीडिंग हुई।
एमएचआरए इन रिपोर्ट्स की समीक्षा कर रहा है। संभावित लक्षणों की रिपोर्ट तैयार की जा रही है। ऐसे मामलों की बारीकी से निगरानी भी की जा रही है। पीरियड्स से जुड़ी दिक्कतों के मामले ज्यादातर 30 से 49 वर्ष की उम्र की महिलाओं में सामने आ रहे हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब जावेद अख्तर लिखेंगे खेला होबे पर गीत

दीदी ने कहा, इस स्लोगन को दीजिए गीत का रूप ममता से मिलने पहुंचे जावेद अख्तर और शबाना आजमी सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली : खेला होबे स्लोगन पश्चिम आगे पढ़ें »

ऊपर