कोरोना वैक्सीन से 4000 महिलाओं में पीरियड्स की दिक्कत!

नई दिल्ली : कोरोना वैक्सीन के लगातार सामने आ रहे साइड इफेक्ट्स पर पूरी दुनिया की नजर है। डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन में तकरीबन 4000 महिलाओं को वैक्सीन लगने के बाद पीरियड (माहवारी) से जुड़ी समस्या हुई है। वैक्सीन पर नजर रख रहे एक्सपर्ट्स ने खुद ऐसा दावा किया है। उन्होंने ये भी बताया कि मुख्य रूप से 30 से 49 साल की महिलाओं में वैक्सीन लगने के बाद ये समस्या ज्यादा देखने को मिली है। रिपोर्ट के मुताबिक, महिलाओं को सामान्य रूप से होने वाली ब्लीडिंग से ज्यादा फ्लो हो रहा है और कुछ महिलाओं में देरी से पीरियड होने की भी समस्या देखी गई है। मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रॉडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी के मुताबिक, 17 मई तक एस्ट्राजेनेका शॉट से जुड़ी ऐसी 2,734 रिपोर्ट्स दर्ज की गई हैं। हालांकि, ये दावा अकेले एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को लेकर नहीं किया गया है। फाइजर की वैक्सीन से पीरियड में बदलाव के 1,158 मामले सामने आ चुके हैं। जबकि 66 मामलों को मॉडर्ना की वैक्सीन से जोड़कर देखा जा रहा है। एक्सपर्ट्स कह रहे हैं कि ये संख्या और भी ज्यादा हो सकती है, क्योंकि पीरियड से जुड़ी इस दिक्कत को कई आंकड़ों में दर्ज नहीं करवा रहे हैं। डॉ. राइने ने कहा, ‘ऐसी महिलाओं की संख्या बहुत कम है, जिन्होंने वैक्सीन लगने के बाद मेंस्ट्रुअल डिसॉर्डर का सामना किया है। हम इस समस्या के संकेतों को समझने के लिए रिपोर्ट्स की बारीकी से मॉनिटर कर रहे हैं। ‘रिपोर्ट के मुताबिक, 30 से 49 साल की तकरीबन 25 फीसदी महिलाओं ने पीरियड से जुड़ी इस समस्या को महसूस किया है। इसमें ब्लीडिंग फ्लो सामान्य से कम या ज्यादा, पीरियड समय से पहले या देरी से होना और पेट में ऐंठन से जुड़ी दिक्कतें शामिल हो सकती हैं। ये शरीर में अक्सर हार्मोनल बदलाव के कारण हो सकता है। साथ ही साथ, मेडिकल कंडीशन या मेडीकेशन की वजह से भी हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः सिनेमा हॉल में स्क्रीनिंग….

कुछ सिनेमा हाल मालिकों ने सिंगल स्क्रीनिंग के साथ शुरू किया परिचालन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः शहर के सिनेमा हॉल मालिकों ने कहा कि वे पश्चिम बंगाल सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर