कांग्रेसी सांसदों का प्रदर्शन,राज्यसभा व लोकसभा की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित

नई दिल्ली : संसद के मानसून सत्र का आज तीसरा दिन है। पेगासस जासूसी विवाद को लेकर दो दिन हंगामे की भेंट चढ़ चुके हैं। गुरुवार यानी आज संसद के दोनों सदनों में 11 बजे कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है। वहीं कांग्रेसी सांसदों ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ संसद परिसर में प्रदर्शन किया। पार्टी के पूर्व अध्यक्ष और लोकसभा सांसद राहुल गांधी इस प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे हैं। इसके इतर नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर आज किसान विरोध प्रदर्शन रैली निकाल रहे हैं। बता दें कि लोकसभा की एक भी बैठक अब तक नहीं हो पाई है। राज्यसभा में कोरोना वायरस पर चर्चा जरूर हुई। इस चर्चा में केंद्र सरकार के बयान ऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत न होने पर जमकर हंगामा हुआ। हालांकि, अधिकतर राज्यों ने कहा है कि उनके यहां ऑक्सीजन की कमी से किसी की जान नहीं गई।
लोकसभा में आवश्यक रक्षा सेवा और अंतर्देशीय पोत विधेयक पेश
लोकसभा की कार्यवाही स्थगित करने से पहले अंतर्देशीय पोत विधेयक, 2021 और आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक, 2021 लोकसभा में पेश किए गए।
लोकसभा दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित
लोकसभा की कार्यवाही दोबारा शुरू होने के बाद किसानों के मुद्दे पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। इसके बाद एक बार फिर लोकसभा की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।
राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित
राज्यसभा की कार्यवाही 12 बजे दोबारा हुई। शुरू होते ही विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया और जमकर नारेबाजी। इसके चलते कार्यवाही शुरू होने के कुछ मिनटों बाद ही एक बार फिर दोपहर दो बजे तक के लिए राज्यसभा को स्थगित कर दिया गया।
कृषि कानूनों के मुद्दे पर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा
कांग्रेस और कुछ अन्य विपक्षी दलों के सदस्यों ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के मुद्दे पर गुरुवार को लोकसभा में हंगामा किया, जिस कारण सदन की कार्यवाही आरंभ होने के करीब 10 मिनट बाद ही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन में हंगामे के बीच प्रश्नकाल शुरू करवाया। इस दौरान कुछ सदस्यों ने जलशक्ति मंत्रालय से संबंधित पूरक प्रश्न पूछे और जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने उत्तर दिए। कांग्रेस के सदस्यों ने ‘काले कानून वापस लो’ के नारे लगाए। उन्होंने तख्तियां हाथ में ले रखी थीं। इनमें से एक तख्ती पर ‘अन्नदाता का अपमान बंद करो, तीनों कृषि कानून रद्द करो’ लिखा था।
सदन में नारेबाजी के बीच अध्यक्ष ओम बिरला ने विपक्षी सदस्यों से अपने स्थान पर जाने और सदन चलने देने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘‘यह सदन चर्चा और संवाद के लिए है। आपको जनता ने तख्तियां दिखाने और नारेबाजी करने के लिए नहीं भेजा है। आप मुद्दे उठाएं, चर्चा करें और जनता की समस्याओं के समाधान का प्रयास करें। आपको चर्चा करने का पूरा समय मिलेगा। तख्तियां दिखाना और नारेबाजी करना है तो आप सदन से बाहर चले जाएं। यह उचित नहीं है।’’
लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित
संसद के मानसून सत्र का तीसरा दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ने के आसार नजर आ रहे हैं। गुरुवार यानी आज संसद के दोनों सदनों में 11 बजे कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने जमकर हंगामा हुआ। इसके बाद राज्यसभा और लोकसभा की कार्यवाही 10 मिनट के अंदर ही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आ​ज से भारी बारिश की संभावना

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को रात भर बारिश में उत्तर कोलकाता के कई इलाकों में जलजमाव हो गया। वहीं मंगलवार को भी कोलकाता समेत दक्षिण आगे पढ़ें »

ऊपर