एक साथ आजाद हुए, फिर भारत और पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस में 1 दिन का अंतर क्यों?

नई दिल्ली : पाकिस्तान 14 अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस मनाता है। दरअसल  ब्रिटिश हाउस ऑफ कॉमंस में इंडियन इंडिपेंडेंस बिल 4 जुलाई 1947 को पेश किया गया था। इस बिल में भारत के बंटवारे और पाकिस्तान के बनाए जाने का प्रस्ताव रखा गया था। उसके बाद यह बिल 18 जुलाई 1947 को स्वीकारा गया और 14 अगस्त को बंटवारे के बाद 14-15 अगस्त की आधी रात को दो राष्ट्रों, भारत और पाकिस्तान का जन्म हुआ था। दोनों देश आधी रात को अस्तित्व में आए लेकिन पाकिस्तान अपना स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त के बजाय एक दिन पहले यानी 14 अगस्त को मनाता है जबकि भारत 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाता है।

भारत और पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस में 1 दिन का अंतर

गौरतलब है कि अधिनियम में भारत और पाकिस्तान दोनों के लिए स्वतंत्रता दिवस के रूप में 15 अगस्त का उल्लेख है। इसमें कहा गया है, “15 अगस्त 1947 से भारत में दो स्वतंत्र डोमिनियन स्थापित किए जाएंगे, जिन्हें क्रमशः भारत और पाकिस्तान के रूप में जाना जाएगा।” पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद जिन्ना ने भी अपने रेडियो संबोधन में ये घोषणा की थी कि 15 अगस्त को ही पाकिस्तान स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाएगा। अपने स्वतंत्रता दिवस के भाषण में, जिन्ना ने कहा था, “15 अगस्त पाकिस्तान के स्वतंत्र और संप्रभु राज्य का जन्मदिन है। यह मुस्लिम राष्ट्र की नियति की पूर्ति का प्रतीक है जिसने पिछले कुछ वर्षों में अपनी मातृभूमि के लिए महान बलिदान दिए हैं।” अब सवाल ये है कि जब दोनों देश एक ही दिन अस्तित्व में आए तो उनके स्वतंत्रता दिवस में एक दिन का अंतर क्यों?

पाकिस्तान के 14 अगस्त को स्वतंत्रा दिवस मनाने के पीछ ये है कारण

उस साल 15 अगस्त इस्लामिक महीने रमजान का आखिरी शुक्रवार था, इसलिए पाकिस्तान में मुसलमानों के लिए यह दिन बेहद खास था। दरअसल उस दिन शब-ए-कद्र पड़ रहा था जिसे बेहद पाक रात मानी जाती है। इसी कारण से पाकिस्तान 14 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाता है।

वहीं जुलाई 1948 तक पाकिस्तान द्वारा जारी स्मारक डाक टिकटों पर भी 15 अगस्त को पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस के रूप में उल्लेख किया गया था, जैसा कि भारत के लिए है। लेकिन उसी वर्ष, पाकिस्तान ने अपने स्वतंत्रता दिवस को भारत से 1 दिन पहले मनाना शुरू कर दिया। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि पाकिस्तानी सरकार ने अपना स्वतंत्रता दिवस भारत से 1 दिन क्यों आगे बढ़ाया। इसे लेकर अलग-अलग कारण बताए जाते रहे हैं।

एक कारण ये भी माना जाता है

पाकिस्तान के एक दिन पहले स्वतंत्रता दिवस मनाने के पीछे एक कारण ये भी बताया जाता है कि भारत में स्वतंत्रता कानून पर 15 अगस्त 1947 को नई दिल्ली में 00:00 बजे (IST) या 05: 30 बजे (GMT) हस्ताक्षर किए गए थे। कहा जाता है कि पाकिस्तान का वक्त भारत से 30 मिनट आगे हैं इसलिए जब स्वतंत्रता कानून पर दस्तखत किए गए थे उस समय पाकिस्तान में 14 अगस्त का दिन था।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः मां फ्लाईओवर पर बाइक व कार की टक्कर, एक मरा

हादसे में बाइक सवार तीन युवक भी हुए घायल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : प्रगति मैदान थानांतर्गत मां फ्लाईओवर पर कार और दो बाइकों की टक्कर में एक आगे पढ़ें »

ऊपर