पाकिस्तान की ओर से फिर हुआ सीजफायर उल्लंघन, एक जवान शहीद

Sease fire violetion

नई दिल्ली : पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा। करतापुर कॉरिडोर के उद्घाटन से पहले फिर एकबार पाकिस्तान ने सीजफायर उल्लंघन किया है। जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में कृष्णाघाटी सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से शुक्रवार तड़के गोलाबारी की गई। सीमापार से हुई इस गोलाबारी में भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया।

भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

जम्मू के डिफेंस पीआरओ की ओर से यह सूचना दी गयी कि पाकिस्तानी सेना द्वारा मेंढर सब डिवीजन के केजी सेक्टर में युद्धविराम उल्लंघन किया गया है। यह उल्लंघन पाकिस्तान की तरफ से रात के करीब 2 बजकर 30 मिनट पर किया गया, जिसकी प्रतिक्रिया में भारतीय सेना की ओर से मुंहतोड़ जवाब दिया गया। भारत ने पाकिस्तान को याद दिलाया कि वे 2003 के युद्धविराम की व्यवस्था का सम्मान करें। हालांकि, नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना द्वारा अक्सर युद्ध विराम का उल्लंघन किया जाता रहा है।

धारा 370 हटाए जाने के बाद से हो रहे हैं हमले

दो दिन पूर्व ही पाकिस्तानी सेना द्वारा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर हीरानगर सेक्टर के रठुआ, पानसर, मनसारी में रिहायशी इलाकों पर गोलीबारी की गयी। मंगलवार देर रात हुई इस गोलाबारी में मोर्टार शैल गिरने से लोगों के मकानों व कुछ जानवरों को नुकसान पहुंचा है। वहीं भारतीय जवानों ने भी पाकिस्तानी सैनिकों की गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। एक घंटे से भी अधिक समय तक चली इस गोलाबारी में पाकिस्तानी चौकियों को भारतीय सेना द्वारा काफी हद तक क्षतिग्रस्त कर दिया गया।

गौरतलब है कि केन्द्र सरकार द्वारा 5 अगस्त को जम्मू कश्मीर से 370 हटाए जाने के बाद से ही पाकिस्तान की ओर से अक्सर गोलीबारी की घटनाएं सामने आ रही है।

भारत के खिलाफ पाकिस्तानी सेना द्वारा सीमापार से लगातार ऐसी कोशिशें की जाती हैं जिनसे स्थिति सामान्य नहीं हो पाती। इससे पहले उत्तरी कश्मीर के सोपोर में लोगों को धमकाने और भयभीत करने के मामले में पुलिस ने चार ओवरग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) को गिरफ्तार किया है। इनके पास से हथियार समेत अन्य आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई है।

पाकिस्तान अपना रहा दोहरी नीति

एक तरफ तो पाकिस्तान द्वारा भारतीयों को करतारपुर कॉरिडोर के उद्धघाटन समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है, वहीं दूसरी तरफ सीमापार से सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है। इन घटनाओं से पाकिस्तान की दोहरी नीति को समझा जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर