साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर ओवैसी का पलटवार, कही ये बड़ी बात

Owaisi counterattack on the statement of Sadhvi Pragya Thakur

भोपाल : मध्य प्रदेश के भोपाल से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर एकबार फिर अपने विवादित बयान के चलते विपक्षियों के निशाने पर आ गईं हैं। बता दें कि साध्वी ने कहा था कि हम नाली और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बने हैं। जिसपर एआइएमआइएम (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने तंज कसा है।

ओवैसी ने कहा हैरानी नहीं हुई

ओवैसी ने कहा कि उन्हें साध्वी के वाहियात बयान से जरा भी हैरानी नहीं हुई क्योंकि उनकी सोच ही ऐसी है। उन्होंने आगे कहा कि साध्वी भारत में हो रहे जाति और वर्गभेद में विश्वास करती हैं। प्रज्ञा कहती हैं कि जो काम जाति से तय होता है वो जारी रहना चाहिए यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं। वे खुलेआम प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का विरोध कर रही हैं। तो इस तरह से कैसे न्यू इंडिया बनेगा? ओवैसी ने कहा कि साध्वी अपने बयान से दर्शाना चाह रहीं कि वे ऊंची जाति की हैं और शौचालय साफ करने वाले उनके बराबर के नहीं हैं।

कांग्रेस ने भी की आलोचना

साध्वी के बयान को लेकर कांग्रेस ने भी उनपर हमला किया है। कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि साध्वी प्रज्ञाा ठाकुर इस तरह की बातें कर रही हैं। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता अभियान चला रहे हैं। साथ ही भाजपा के नेता अलग-अलग जगहों पर झाड़ू लगाते नजर आते हैं।

एक कार्यक्रम में दिया था बयान

गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह रविवार को सीहोर के एक कार्यक्रम में गई थीं। यहां उन्होंने एक कार्यकर्ता को फटकार लगाते हुए कहा था कि हम नाली और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बने। साध्वी ने कहा कि हम जिस काम के लिए सांसद बनाए गए हैं वह काम ईमानदारी से करेंगे, यह हमारा पहले भी कहना था आज भी है और कल भी रहेगा।

बता दें कि साध्वी के इस बयान पर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें तलब किया है। जहां सोमवार को वे नई दिल्ली के पार्टी मुख्यालय पहुंचेंगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर