साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर ओवैसी का पलटवार, कही ये बड़ी बात

Owaisi counterattack on the statement of Sadhvi Pragya Thakur

भोपाल : मध्य प्रदेश के भोपाल से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर एकबार फिर अपने विवादित बयान के चलते विपक्षियों के निशाने पर आ गईं हैं। बता दें कि साध्वी ने कहा था कि हम नाली और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बने हैं। जिसपर एआइएमआइएम (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने तंज कसा है।

ओवैसी ने कहा हैरानी नहीं हुई

ओवैसी ने कहा कि उन्हें साध्वी के वाहियात बयान से जरा भी हैरानी नहीं हुई क्योंकि उनकी सोच ही ऐसी है। उन्होंने आगे कहा कि साध्वी भारत में हो रहे जाति और वर्गभेद में विश्वास करती हैं। प्रज्ञा कहती हैं कि जो काम जाति से तय होता है वो जारी रहना चाहिए यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण हैं। वे खुलेआम प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का विरोध कर रही हैं। तो इस तरह से कैसे न्यू इंडिया बनेगा? ओवैसी ने कहा कि साध्वी अपने बयान से दर्शाना चाह रहीं कि वे ऊंची जाति की हैं और शौचालय साफ करने वाले उनके बराबर के नहीं हैं।

कांग्रेस ने भी की आलोचना

साध्वी के बयान को लेकर कांग्रेस ने भी उनपर हमला किया है। कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि साध्वी प्रज्ञाा ठाकुर इस तरह की बातें कर रही हैं। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छता अभियान चला रहे हैं। साथ ही भाजपा के नेता अलग-अलग जगहों पर झाड़ू लगाते नजर आते हैं।

एक कार्यक्रम में दिया था बयान

गौरतलब है कि साध्वी प्रज्ञा सिंह रविवार को सीहोर के एक कार्यक्रम में गई थीं। यहां उन्होंने एक कार्यकर्ता को फटकार लगाते हुए कहा था कि हम नाली और शौचालय साफ करने के लिए सांसद नहीं बने। साध्वी ने कहा कि हम जिस काम के लिए सांसद बनाए गए हैं वह काम ईमानदारी से करेंगे, यह हमारा पहले भी कहना था आज भी है और कल भी रहेगा।

बता दें कि साध्वी के इस बयान पर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उन्हें तलब किया है। जहां सोमवार को वे नई दिल्ली के पार्टी मुख्यालय पहुंचेंगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर