ट्यूशन टीचर ने नाबालिग लड़कियों के साथ करता था यह काम

नई दिल्ली : यूट्यूब चैनल पर अश्लील वीडियो बनाने के मामला का साइबर पुलिस ने खुलासा किया है। कुछ लड़कियों को प्रैंक करने के नाम पर पैसे दिए जाते थे। ऐसे मामले में कुछ लड़कियों ने शिकायत की है। ये प्रैंक मुंबई के अलग-अलग इलाकों में बनाया गया है। लड़कियों के साथ इस वीडियो को बनाते समय उन्हें गलत तरीके से छुआ जाता था और अश्लील भाषा का इस्तेमाल किया जाता था। पुलिस ने संबंधित 17 यूट्यूब चैनल को बंद करने के लिए लेटर दिया है। मामले में अब तक तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। लड़कियों का कंसेंट लिए बगैर वीडियो बनाया गया है। मामले में अभी और आरोपियों को पकड़े जाना है। जॉइंट कमिश्नर क्राइम ब्रांच मिलिंद भारांबे ने अपील की है कि पैसे के लिए ऐसे वीडियो बनाने का मामला अगर पैरेंट्स को पता चलता है तो उसे रोके और अगर कोई मामला सामने आया है तो उसे साइबर पुलिस को बताए।

जानकारी के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी 8वीं के बच्चों को ट्यूशन भी देता था। ये प्रैंक वीडियो बांद्रा, गोराई बीच, आक्सा बीच जैसे जगहों पर बनाया जाता है। जॉइंट कमिश्नर ने बताया कि कुछ फेसबुक पेज को भी बंद करने के लिए भी हमने लेटर दिया है। अब तक कि जांच में पता चला है कि इन्होंने अब तक इन चैनलों को चलाने वालों ने 2 करोड़ रुपए कमाया है। मिलिंद भारांबे ने बताया कि जांच में ये भी पता चला है कि कुछ लड़कियां पॉकेट मनी के लिए ऐसे वीडियो बनाने के लिए तैयार हो गई थी, हम अपील करेंगे कि ऐसी वीडियो ना बनाएं। मुख्य आरोपी ट्यूशन में पढ़ने वाली लड़कियों को भी इस वीडियो में शामिल किया है जो माइनर हैं। कुछ माइनर लड़के भी हैं। इस मामले में आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट , आईटी एक्ट और आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब अनुब्रत मंडल आये आयकर के निशाने पर, अगले सप्ताह बुलाये गये

करोड़ों की बेनामी संपत्ति का आरोप कोलकाता : आयकर विभाग ने ​अगले सप्ताह तृणमूल नेता अणुव्रत मंडल को बेनामी संपत्तियों से संबंधित मामलों में नोटिस भेजी आगे पढ़ें »

vote

जंगीपुर व शमशेरगंज में मतदान तिथि बदली, अब 16 मई को मतदान

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनाव आयोग ने जंगीपुर व शमशेरगंज में 13 मई को होने वाले मतदान की तिथि बदल दी है। अब यहां 16 मई आगे पढ़ें »

ऊपर