वजन घटाना है तो खाये ऐसी राटियां…

कोलकाताः हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन से न सिर्फ हमारे शरीर की जरूरतों को पूरा क‍िया जाता है, बल्कि इससे हमारी सेहत पर भी असर पड़ता है। जब हमारे द्वारा ली जाने वाली कैलोरी में से कुछ ही कैलोरी बर्न हो पाती है तो हमारा वजन बढ़ने लगता है। हम अपनी कैलोरी को डाइट में शाम‍िल चीजों के सही चुनाव से बैलेंस कर सकते हैं। एक बैलेंस डाइट का मतलब किसी खास तरह के खाने से परहेज नहीं है, बल्कि एक ऐसी डाइट से है, जिसमें शरीर को म‍िलने वाले सभी जरूरी पोषक तत्व मौजूद हों। एक्सपर्ट्स के मुताब‍िक, हमारे वजन बढ़ने के पीछे बेतरतीब लाइफस्टाइल के अलावा पैक्ड चीजों का ज्यादा इस्तेमाल करना भी है। अक्सर ब्रांडेड प्रोडक्ट्स में मौजूद अनहेल्दी कार्बोहाइड्रेट्स और महत्वपूर्ण मैक्रोन्यूट्रिएंट से पर्याप्त पोषण की कमी, सांस की समस्या और थकान जैसी हेल्थ रिलेटेड समस्याएं पैदा हो सकती हैं। आज हम आपको वेटलॉस के लिए कुछ कॉमन अनाजों के बारे में बतायेंगेः

ज्वार का आटा
ज्वार का आटा स्वाद में थोड़ा कड़वा, लेकिन फाइबर से भरपूर होता है और आमतौर पर हर जगह मिल जाता है। ज्वार के आटे में प्रोटीन, मिनरल्स और विटामिन मौजूद होते हैं। यह ग्लूटेन फ्री होता है, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में काफी कारगर होता है। एक कप ज्वार में लगभग 22 ग्राम प्रोटीन होता है। यह आपकी भूख पर कंट्रोल कर आपको अनहेल्दी या जंक फूड खाने से बचाता है। ज्वार के आटे से बनने वाले कुछ पॉपुलर ड‍िशेज में- ज्वार की रोटियां, ज्वार-प्याज की पूरियां और थेपला शाम‍िल हैं। ये सभी जायकेदार होने के साथ पूरी तरह से हैल्दी और डायजेशन के ल‍िहाज से भी काफी अच्छे हैं।
न्यूट्रिशन वैल्यू 100 ग्राम
ज्वार का आटा: 348 कैलोरी; 10.68 ग्राम प्रोटीन​
रागी का आटा
रागी वजन घटाने के लिए एक बेहतरीन अनाज है। इसमें मौजूद ट्राइफोटोफेन नाम का एमिनो एसिड भूख को कम कर वेटलॉस में अच्छे नतीजे देता है। रागी आयरन के साथ ही फाइबर का भी एक बेहतरीन स्रोत है जो डायजेशन में मदद करता है। नींद की कमी से भी वजन बढ़ता है।
विटामिन-सी से भरपूर रागी ग्लूटेन फ्री होता है, जो कोलेस्ट्रॉल को मैनेज करता है और एक अच्छी नींद लाने में मददगार है। रागी का सेवन रात में भी किया जा सकता है, इससे नींद अच्छी आती है और आराम भी मिलता है। रागी की कुकीज़, इडली और रोटियों के अलावा इसे सेवन करने का एक आसान तरीका है रागी के आटे से दलिया बनाना। यह काफी स्वादिष्ट होता है और बच्चे भी बड़े चाव से इसे खाते हैं।
न्यूट्रिशन वैल्यू 119 ग्राम रागी का आटा: लगभग 455 कैलोरी; 13 ग्राम प्रोटीन​
ओट्स आटा
ओट्स का आटा बैलेंस डाइट के तौर पर एक हेल्दी ऑप्शन है। दुनियाभर में हजारों लोग वजन कम करने के लिए ओट्स के आटे का सेवन करते हैं। ओट्स का आटा, बादाम के आटे या क्विनोआ के आटे जैसे महंगे आटे के मुकाबले सस्ता होता है और कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता है। यह हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है और दिल को स्वस्थ बनाए रखने में बहुत मदद करता है। ओट्स का आटे के सेवन से पेट लंबे समय तक भरा रहता है, जिससे बार-बार भूख नहीं लगती। इससे वजन घटाने में मदद म‍िलती है। बाजार से रेडी-टू-ईट ओट्स खरीदने से बचें, क्योंकि इनमें बहुत ज्यादा चीनी और प्रि‍जरवेटिव्स होते हैं जो वजन कम करने में आपकी मदद नहीं करेंगे।
न्यूट्रिशन वैल्यू 100 ग्राम ओट्स आटा: लगभग 389 कैलोरी; 8% पानी; 16.9 ग्राम प्रोटीन
वजन कम करने के तरीके
वजन कम करना कोई ऐसी चीज नहीं है जो रातों-रात होती है। यह एक स‍िलस‍िलेवार प्रोसेस है जो लंबे समय तक लगातार कोश‍िशों और बैलेंस्ड डाइट के बाद ही नतीजों में बदल पाती है। वजन कम करना मुश्किल न होकर काफी आसान हो जाता है अगर आप इस बात को समझ लेते हैं कि आपका शरीर कैसे काम करता है और हर दिन इसे सही तरीके से काम करने के लिए कितनी कैलोरी की जरूरत होती है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

स्वतंत्रता दिवस पर महानगर में तैनात रहेंगे 2500 पुलिस कर्मी

रेड रोड में मौजूद रहेंगे 1200 पुलिस कर्मी 6 वॉच टॉवर, 11 बंकर और 3 क्यूआरटी किए गए तैनात 6 ज्वाइंट सीपी, 20 डीसी और 40 एसीपी आगे पढ़ें »

ऊपर