एनजीटी ने बढ़ाया पटाखा बैन, इन शहरों में क्रिसमस-नए साल पर शर्तों के साथ छूट

 

नयी दिल्ली : देश में कोरोना का संक्रमण अब भी थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बीच नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने बड़ा फैसला लेते हुए पटाखों पर लगे बैन को और आगे बढ़ा दिया है, जिसे दिल्ली-एनसीआर समेत उन शहरों व नगरों में बढ़ाया गया है जहां हवा की गुणवत्ता का स्तर खराब है। एनजीटी ने कहा कि एनसीआर और उन सभी शहरों, नगरों में कोविड-19 महामारी के दौरान सभी तरह के पटाखों की बिक्री, इस्तेमाल पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा जहां वायु गुणवत्ता खराब है। मालूम हो कि दिल्ली की हवा का स्तर पूरे नवंबर काफी खराब रहा। वहीं पराली के बाद दिवाली पर जले पटाखों से प्रदूषण फैला।

इन जगहों पर हरित पटाखें चलाने की छूट

सूत्रों के अनुसार, क्रिसमस और नववर्ष के दौरान उन स्थानों पर रात के 11 बजकर 55 मिनट से साढ़े 12 बजे रात तक हरित पटाखा (ग्रीन क्रैकर्स) चलाने की अनुमति होगी जहां वायु गुणवत्ता सामान्य या उससे बेहतर है। एनजीटी का कहना है कि जिलाधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि पटाखों की बिक्री नहीं हो और उल्लंघन करने वालों से जुर्माना वसूला जाए। बता दें कि इससे पहले 9 नवंबर को राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण (एनजीटी) ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में मध्यरात्रि से लेकर 30 नवंबर को आधी रात तक सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर पूर्णत: प्रतिबंध लगा दिया था।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

गर्दन के दर्द से ऐसे पायें छुटकारा

आधुनिक बीमारियों में गर्दन में अकड़न और दर्द भी एक प्रचलित रोग है। जो लोग डेस्क जॉब करते हैं, अधिक लिखते-पढ़ते हैं या टी. वी. आगे पढ़ें »

मसाज से मिले चुस्ती-फुर्ती

व्यस्त व भागदौड़ भरी जिंदगी में थक जाना व थकावट आम बात है। ऐसी स्थिति में मसाज अर्थात मालिश लाभ पहुंचाती है एवं थकावट दूर आगे पढ़ें »

ऊपर