बच्ची को पालने के लिए रोज 30 फीट ऊंचे पेड़ों पर चढ़ती है ये मां ..

कोलकाता / तेलंगाना : हालत कब किसी इंसान को कहां से कहां पहुंचा दें इस बात का कुछ नहीं पता चलता। पर इंसान हर हालात में जीने का दम रखता है। वो हालातों से लड़ता है। पर टूटता नहीं। लड़ना ही जीवन है। सावित्री की जिंदगी में रोज आते चैलेंज एक जंग है। उनकी उम्र 33 वर्ष है। पर उनके पास और कोई कमाने का साधन नहीं था इसलिए वो ताड़ के पेड़ों पर चढ़कर तॉड़ी निकालती हैं। तॉड़ी के बारे में बता दें कि ये एक तरीके से पेड़ से निकलने वाली वाइन होती है, जो दक्षिण भारत में काफी उपयोग में लाई जाती है।
सिंगल मदर हैं वो
सावित्री तेलंगाना के रेगोड़ा गांव की रहने वाली हैं। उनके पति भी यही काम करते थे। लेकिन कार्डियक अरेस्ट की वजह से उनकी मौत हो गई। वर्ष 2016 में उनके पति की मौत हो गई थी। उस वक्त सावित्री गर्भवती थी। बाद में उन्होंने एक बेटी को जन्म दिया।

अपना खानदानी काम ही करना चाहती हैं
सावित्री ने 10वीं तक पढ़ाई भी कर रखी है। हालांकि उन्हें नौकरी भी मिल जाती लेकिन उनका मानना है कि वो अपने पति के इस खानदानी काम को ही करना चाहती हैं। वो कहती हैं, ‘भगवान ने हमें सजा दी है। पहले मेरे पति को छीन लिया। फिर जो मेरी बेटी पैदा हुई है उसे भी दवा की जरूरत पड़ती रहती है। मुझे उसके लिए पैसा कमाना पड़ेगा।


पहले नहीं मिल रहा था लाइसेंस
वो बताती हैं, ‘पहले मुझे इस काम के लिए लाइसेंस नहीं मिल रहा था। पर मेरी इच्छा और दृढनिश्चय के कारण उन्होंने मुझे लाइसेंस दे दिया। मैं आसानी से 30 फीट का सीधा पेड़ चढ़ जाती हूं।’ उन्होंने ये भी बताया कि वो रोज ऐसे 30 पेड़ों पर चढ़ती हैं। इतना ही नहीं, उन्हें ये काम करने के लिए 10 किलोमीटर तक का सफर भी तय करना पड़ता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आजमाएं धूप के ये टोटके, सभी परेशानियां होंगी दूर

नई दिल्ली : सनातन धर्म में धूप-दीप और हवन का खास महत्व है। कई परिवार में रोजाना धूप-दीप दिखाया जाता है। कहते हैं कि धूप आगे पढ़ें »

आजमाकर देखें आटे का यह चमत्कारी उपाय, नहीं होगी धन की समस्या

कोलकाता : कोरोना वायरस के चलते यह साल पूरी तरह बाधित रहा है। काम-धंधे को छोड़कर लोग अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हो आगे पढ़ें »

ऊपर