तीनों नए कृषि कानून के बारे में अधिकतर किसान नहीं जानते हैं – राहुल

नई दिल्ली : अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के दौरे पर पहुंचे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला है। राहुल ने गुरुवार सुबह ट्वीट करते हुए कहा कि मोदी का शासन दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक को बर्बाद करने का एक सबक है। वायनाड में राहुल ने कई कार्यक्रमों में हिस्सा ले रहे हैं। वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कहा कि आप आज देश की स्थिति को जानते हैं, हर किसी के लिए यह स्पष्ट है कि क्या चल रहा है। भारत 2-3 बड़े व्यापारियों के हित में पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा चलाया जा रहा है। आज हर एक उद्योग पर 3-4 लोगों का एकाधिकार है। इससे पहले राहुल गांधी ने केंद्र सरकार से अपील की कि कृषि कानूनों का वापस लिया जाए।
तीनों कृषि कानूनों की मुखालफत करते हुए कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा, सच्चाई यह है कि अधिकांश किसान, विधेयक (तीनों कृषि कानून) के विवरण को नहीं समझते हैं, क्योंकि अगर वह समझ गए तो पूरे देश में आंदोलन होगा, देश में आग लग जाएगी।’ राहुल गांधी ने कहा कि कुछ साल पहले मैंने देखा था कि हमारे देश के किसानों पर हमला करने की कोशिश की गई थी। यह भट्टा पारसोल में हुआ था, जहां किसानों की जमीनें छीनी जा रही थीं, मुझे एहसास हुआ कि यह एक समस्या थी और मैंने इस समस्या के बारे में पार्टी के अंदर एक बातचीत शुरू की, इसके बाद नया भूमि अधिग्रहण बिल आया था। बुधवार को राहुल गांधी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का एक वक्तव्य ट्वीट किया और तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की। राहुल ने महात्मा गांधी के ‘विनम्र तरीक़े से आप दुनिया हिला सकते हैं’ वक्तव्य को ट्वीट किया। राहुल गांधी ने आगे लिखा कि एक बार फिर मोदी सरकार से अपील है कि तुरंत कृषि-विरोधी क़ानून वापस लिए जाएं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल के आरोपों को चुनाव आयोग ने बताया निराधार

कहा - सभी चुनाव अधिकारी तत्परता व कर्मठता से कर रहे काम हमें अपने चुनाव अधिकारियों पर पूरा भरोसा सन्मार्ग संवाददाता नई दिल्ली/कोलकाताः मुख्य निर्वाचन आयोग ने तृणमूल आगे पढ़ें »

दूसरे चरण के लिए 30 सीटों पर नामांकन शुरू

बंगाल में दूसरे चरण के चुनाव में चार जिलों की सीटें शामिल मतदान 1 अप्रैल को कोलकाताः चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल विधानसभा के दूसरे चरण के आगे पढ़ें »

ऊपर