मोदी ने किया करतारपुर गलियारे का उद्घाटन, 500 श्रद्धालुओं का पहला जत्था हुआ रवाना

Kartarpur Modi

नई दिल्ली : करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शनिवार को 500 भारतीय श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को रवाना किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गलियारे का उद्घाटन किया जिसके लिए वे सुबह करीब 11 बजे डेरा बाबा नानक पहुंचे थे। ‌यहां पर अकाली नेता सुखबीर बादल, केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी, गुरदासपुर से सांसद सन्नी देयोल ने प्रधानमंत्री मोदी का स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने सुल्तानपुर लोधी में बेर साहिब गुरुद्वारे में माथा टेका।

मोदी ने नताओं के साथ किया लंगर, इमरान को कहा धन्यवाद

मोदी ने अकाल तख्त के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह के नेतृत्व में 500 भारतीय श्रद्धालुओं के पहले जत्थे को गलियारे के रास्ते गुरुद्वारा दरबार साहिब की ओर रवाना किया। मोदी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और अन्य नेताओं के साथ लंगर में भोजन किया। उन्होंने रैली में कहा कि कॉरिडोर को कम वक्त में तैयार करने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान को धन्यवाद देता हूं। पाकिस्तान के श्रमिक साथियों का भी आभार व्यक्त करता हूं, जिन्होंने इतनी तेजी से अपनी तरफ के कॉरिडोर को पूरा करने में मदद की।

सिद्धू पाकिस्तान के लिए रवाना

उधर, पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर टर्मिनल पहुंचे, जहां से वे पहले जत्थे के साथ करतारपुर साहिब के दर्शन करने पाकिस्तान रवाना हुए। पहले जत्थे में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी करतारपुर गए हैं।

11 महीने में हुआ कॉरिडोर का निर्माण

प्रधानमंत्री ने गलियारे में भारत की तरफ यात्री टर्मिनल की इमारत का भी उद्घाटन किया जिसे एकीकृत जांच चौकी के तौर पर भी जाना जाएगा। यहां पर तीर्थयात्रियों को जांच के बाद अनुमति दी जाएगी ताक‌ि वे साढ़े चार किलोमीटर लंबे गलियारे से यात्रा के लिए आगे जा सकें। इस कॉरिडोर का निर्माण कार्य 11 महीने में पूरा हुआ है। यह गलियारा गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर आम लोगों के लिये खोला गया है। बता दें कि यह गलियारा पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को पंजाब में स्थित डेरा बाबा नानक से जोड़ता है। गुरुद्वारा दरबार साहिब में ही सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपने जीवन के अंतिम वर्ष गुजारे थे। इस कारण से यह स्‍थल सिक्ख श्रद्धालुओं के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टोक्‍यों ओलंपिक में खिलाड़ियों का पूरा समर्थन करेगा देश : कोविंद

नयी दिल्ली : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि 24 जुलाई से नौ अगस्त तक आयोजित 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व आगे पढ़ें »

बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी पहुंचीं जयपुर साहित्य महोत्सव में, लेखन चुनौतियों का जिक्र किया

जयपुरः ओमान की लेखिका एवं बुकर पुरस्कार विजेता जोखा अल हार्सी के लिए लेखन का सबसे दिलचस्प और चुनौतीपूर्ण पहलू समाज में मौजूद अनसुनी और आगे पढ़ें »

ऊपर