आडवाणी के 92वें जन्मदिन पर मोदी ने दी बधाई,की लंबी उम्र की कामना

Modi and Adwani

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और उप प्रधानमंत्री लाल कृष्‍ण अाडवाणी शुुक्रवार को 92 साल के हो गए है। अाडवाणी के जन्मदिन पर प्रधानमंत्री मोदी ने उनके आवास पर जाकर उन्हें जन्मदिन की बधाई देते हुए उनके अच्छे स्वास्‍थ और लंबे उम्र की कामना की। मोदी के साथ गृह मंत्री अमित शाह,उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भी मौजूद थे। मोदी ने अाडवाणी को महान राजनीतिज्ञ और सबसे आदरणीय नेता बताया। उन्होंने कहा कि भारत हमेशा उनके अभूतपूर्व योगदान को अपने जहन में रखेगा। भारतीय जनता पार्टी को आकार देने और सशक्त बनाने के लिए उन्होंने काफी सालों तक कड़ी मेहनत की है।

मोदी ने ट्वीट किया कि आज लालकृष्‍ण आडवाणी के कारण ही भाजपा मजबूत स्तंभ बनकर उभरी है। उनके और कार्यकर्ताओं के स्वार्थहीन परिश्रम के कारण ही भाजपा देश की सबसे प्रमुख पार्टी बनी है। उन्होंने हमेशा समाजसेवा को प्राथमिकता दी और कभी भी पार्टी की विचारधारा के साथ समझौता नहीं किया। लोकतंत्र को सुरक्षित रखने के लिए वे सबसे आगे रहते थे। एक नेता के तौर पर पूरी दुनिया में उनकी प्रशंसा की जाती है।

अमित शाह ने दी बधाई

गृहमंत्री अमित शाह ने भी आडवाणी को जन्मदिन की हार्दिक बधाई दी। शाह ने कहा कि आडवाणी ने अपना पूरा जीवन देश के विकास और कल्याण के लिए लगा दिया। भाजपा की मजबूत नींव उनके अद्भुत नेतृत्व की क्षमता में ही रखी गयी है। उनके कार्यों से लाखों कार्यकर्ताआें को भी प्ररेणा मिलती है। आडवाणी ने अपने कार्यकाल के दौरान राष्ट्रहित को सर्वोपरि मान कर भारत को नई गति देने का काम किया है। उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत और संगठन कुशलता से भाजपा को एक प्रमुख राष्ट्रीय पार्टी के रूप में स्‍थापित किया है। उनके जन्मदिन पर मैं उन्हें हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं और उनके स्वस्‍थ जीवन की कामना करता हूं। ईश्वर उन्हें दीघायु प्रदान करें।

ममता बनर्जी ने की खुशहाल जीवन की कामना

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी लाल कृष्ण आडवाणी के 92वें जन्मदिन पर ट्वीट करके उन्हें शुभकामनाएं दी। बनर्जी ने उप प्रधानमंत्री के स्वस्‍थ और खुशहाल जीवन की कामना की।

मालूम ‌हो कि लालकृष्ण आडवाणी भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता है और भारतीय राजनीति में भाजपा को एक मुख्य पार्टी बनाने में उनका योगदान अतुलनीय रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Jagdip Dhankhar

धनखड़ के खिलाफ विधान सभा से संसद तक मोर्चाबंदी

कोलकाता : ऐसा पहली बार हुआ है जब विधानसभा में सत्ता पक्ष ने धरना दिया। कारण थे राज्यपाल जगदीप धनखड़, जिन पर विधेयकों को मंजूरी आगे पढ़ें »

मेरे कंधे पर बंदूक रखकर चलाने की को​शिश न करें – धनखड़

कोलकाता : राज्यपाल जगदीप धनखड़ और तृणमूल सरकार के बीच संबंधों में मंगलवार को और खटास आ गयी जब उन्होंने ‘कछुए की गति से काम आगे पढ़ें »

ऊपर