यहां बोरिंग से पानी की जगह निकल रही है आग

मध्य प्रदेश : प्राकृतिक खनिजों से भरे मध्य प्रदेश से एक और हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। राज्य के दमोह जिले के कई गांवों में मिथेन गैस के भंडार मिलने का आनुमान है। एक या दो नहीं बल्कि 24 गांवों में मिथेन के भंडार होने का अनुमान लगाया जा रहा है। ONGC ने इसकी पुष्टि की है और इसे लेकर ONGC के वैज्ञानिकों ने गांवों में डेरा भी डाल लिया है।

जानकारी के मुताबिक पानी की बोरिंग के दौरान यहां पानी की जगह आग निकल रही है। साथ ही यहां 1120 करोड़ रुपये खर्च कर 28 कुएं खोदे जा चुके हैं। ONGC को दमोह जिले के हटा के 24 गांवों में मीथेन गैस मिली है। यहां लंबे समय से ONGC की टीम जांच कर रही थी। दरअसल सेमरा रामनगर गांव में एक कुएं में डेढ़ किमी गहराई पर ज्वलनशील गैस निकली।

बोरिंग से निकल रही आग

ओएनजीसी की टीम को क्षेत्र के लोगों ने अपने बोरिंग दिखाए, जिनमें से गैस निकल रही है और आग पकड़ रही है। इसके बाद ONGC ने जांच और तेज कर दी है। कमता गांव में 12 किसानों के खेतों में बोरिंग में गैस निकल रही है। ONGC के वैज्ञानिक डॉ. एनपी सिंह के अनुसार अब पुख्ता रूप से गैस मिली है। इसके उपयोग को लेकर कार्ययोजना बनाई जा रही है। काईखेड़ा और पथरिया के बोतराई में भी गैस मिली है।

दमोह में हजारों सालों से जीवाश्म

अधिकारियों के मुताबिक दमोह में 10 से 20 हजार साल पहले प्रचुर मात्रा में जीवाश्म पाया जाता रहा। मृत जीव-जंतुओं के अवशेष में ज्यादा मात्रा में मौजूद तेल का समय पर दोहन न हो पाने के कारण अब वह गैस में तब्दील हो गया है। मीथेन गैस कोयले की परतों के नीचे पाई जाती है। इसे ड्रिल किया जाता है तथा नीचे उपस्थित भूमिगत जल को हटाकर इसे प्राप्त किया जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल उम्मीदवार उज्ज्वल विश्वास कोरोना से संक्रमित

2 उम्मीदवार 1 विधायक की हो चुकी है कोरोना से मौत सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : देश के अन्य हिस्सों के साथ ही बंगाल में भी कोरोना का आगे पढ़ें »

सीएम के पैर का प्लास्टर और 7 दिन रखने की डॉक्टरों ने दी सलाह

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नंदीग्राम में सीएम ममता बनर्जी के पैर में लगी चोट के बाद से उनके पैर में प्लास्टर किया हुआ है। सीएम उसी आगे पढ़ें »

ऊपर