मेरठ: 100 गज का मकान के लिये छाती में घोंपते रहे चाकू…

sharp weapon

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में रविवार दोपहर हुई 21 साल के साजिद की नृशंस हत्या के मामले में नए खुलासे होते जा रहे हैं। पुलिस जांच में महज 100 गज के मकान के लिए तीन सगे चाचाओं ने भतीजे को बेहरमी से चाकू से तब तक गोदा जब तक वह मर नहीं गया। बीच सड़क पर किए गए कत्ल की जघन्य वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। दरअसल, लिसाड़ी गेट थाना इलाके में कबाड़ का काम करने वाला साजिद (21) रविवार दोपहर इत्तेफाक नगर की एक मस्जिद से नमाज पढ़कर लौट रहा था। इसी बीच जब वह ब्रह्मपुरी थाना के तारापुरी इलाके की सड़क पर पहुंचा, तभी अंजुम पैलेस के पास उसके तीनों चाचाओं शहजाद, नौशाद और जावेद ने दौड़कर भतीजे को जमीन पर गिरा दिया और एक चाचा ने हाथ तो दूसरे ने पैर पकड़ लिए जबकि तीसरा चाचा साजिद की छाती पर लगातार चाकू से वार करता रहा। शरीर में चाकू घोंपे जाने से साजिद की चीखें निकलने लगीं और वह बुरी तरह तड़पने लगा। इस दौरान सड़क पर तमाम लोग गुजरते रहे, लेकिन किसी ने हमलावरों को रोकने की हिम्मत तक नहीं की।
मरा समझकर जाने लगे तभी
चाकू के ताबड़तोड़ वार से साजिद को लहूलुहान करने के बाद आरोपी जाने लगे, तभी तड़पते हुए घायल भतीजे की आवाज सुनकर एक चाचा दौड़कर वापस लौटता है और फिर से चाकू साजिद की कमर में मारता है और लगातार वार करते हुए उसी धारदार हथियार से साजिद की गर्दन रेत देता है। इसके बाद बुरी तरह जख्मी हो चुका साजिद सड़क पर तड़पते हुए लगभग मृतप्राय: अवस्था में पहुंच जाता है। वहीं, तीनों हमलवार घटनास्थल से फरार होने में कामयाब हो जाते हैं।
कोई बचाने नहीं आया

उधर, सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने सड़क पर अचेत पड़े साजिद को रिक्शा में रखकर अस्पताल पहुंचाया, लेकिन वहां डॉक्टर ने उसको मृत घोषित कर दिया। पुलिस भी इस बात को कह रही है कि अगर घटनास्थल पर मौजूद लोगों या राहगीरों ने दखल दिया होता तो शायद युवक की जान बच जाती। बता दें कि हमलावर चाचा अपने भतीजे पर वार करते रहे और आसपास से लोग निकलते रहे। किसी ने भी उन्हें रोकने की कोशिश नहीं की। यह पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।
एसपी ने भी कहा- शायद बच जाती जान

मेरठ के एसपी सिटी विनीत भटनागर ने कहा कि हमले में बुरी तरह जख्मी साजिद की अस्पताल ले जाते समय मृत्यु हो गई। स्थानीय लोगों ने और राहगीरों ने अगर कोई बचाव किया होता तो यह घटना नहीं होती। पुलिस को शुरुआती पड़ताल में प्लॉट के विवाद की जानकारी लगी है। इस मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। साक्ष्य के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जाली नोट से बाइक खरीदने आया युवक हुआ गिरफ्तार

इंटरनेट से 2 हजार रुपये के नोटों का फोटो डाउनलोड कर कराया था प्रिंट ओएलएक्स पर स्पोर्ट्स बाइक का विज्ञापन देख अभियुक्त ने किया था संपर्क सन्मार्ग आगे पढ़ें »

ऊपर