जम्मू-कश्मीर के जंगलों में भीषण आग, एलओसी पर फट रहीं बारूदी सुरंगें

जम्मूः जम्मू-कश्मीर के जंगल में लगी आग के कारण जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास कई बारूदी सुरंगों में विस्फोट हुए। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर जंगल से शुरू हुई आग भारतीय सीमा में मेंढर सेक्टर तक फैल गई। अधिकारियों ने बताया कि घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करने करने की प्रणाली के तहत बिछाई गई करीब छह बारूदी सुरंगों में इस आग के कारण विस्फोट हो गया। वन रक्षक कनार हुसैन शाह ने कहा, ”पिछले तीन दिन से जंगल में आग लगी हुई है। हम सेना के साथ मिलकर आग को बुझा रहे हैं।” उन्होंने कहा, ”आग पर काबू पा लिया गया था, लेकिन आज सुबह दरमशाल ब्लॉक में आग लग गई और तेज हवाओं के कारण तेजी से फैल गई।”
शाह ने कहा कि सीमावर्ती गांव के पास पहुंची आग पर बाद में सेना की मदद से काबू पा लिया गया। अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि राजौरी जिले में सीमा के पास सुंदरबंदी क्षेत्र में एक और भीषण आग लग गई, जो अन्य वन क्षेत्रों में फैल गई। कालाकोटे के कलार, रणथल, चिंगी जंगलों में भी आग लग गई। अधिकारी ने कहा, ”सीमा पार से आग फैली और ऊपरी कांगड़ी और दोक बन्याद में निंयत्रण रेखा के पास के इलाकों में भी फैल गई।” उन्होंने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है और इस दौरान कोई हताहत नहीं हुआ। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) से लगे खेतों में भी भीषण आग लग गई। उन्होंने बताया कि आग सीमा सुरक्षा बल की बेली अजमत सीमा चौकी (बीओपी) के पास कई किलोमीटर के इलाके में फैल गई। अधिकारियों ने बताया कि इस आग पर काबू पा लिया गया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कोरोनाकाल भूल गया कुम्हारटोली, प्री कोविड वाली रौनक लौटने लगी

10 दिन पहले ही प्रतिमा आ जायेगी पंडालों में यूनेस्को ने बंगाल के दुर्गापूजा उत्सव को दिया है सांस्कृतिक विरासत का दर्जा एक नजर इस पर कोलकाता में आगे पढ़ें »

ऊपर