नागालैण्ड के बाद ममता ने कहा, बंगाल में बीएसएफ की गतिविधियों पर रखें नजर

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को सुरक्षा बलों द्वारा नागालैंड में 14 नागरिकों की हत्या के मद्देनजर पड़ोसी देशों के साथ सीमा साझा करने वाले जिलों में पुलिस से बीएसएफ की गतिविधियों पर नजर रखने को कहा। उन्होंने पुलिस को सीमा सुरक्षा बल को उसके निर्धारित अधिकार क्षेत्र का उल्लंघन नहीं करने देने का भी निर्देश दिया और कहा कि कानून और व्यवस्था राज्य का विषय है। सीएम ने कहा, “मुझे पता है कि यह समस्या है कि बीएसएफ के जवान हमारे गांवों में प्रवेश करते हैं और फिर हमें उत्पीड़न की शिकायत मिलती है। वे पुलिस को सूचित किए बिना कई जगहों पर जाते हैं जो उनके अधिकार क्षेत्र से बाहर हैं। उन्होंने एक प्रशासनिक समीक्षा बैठक में कहा कि विधानसभा चुनाव के दौरान हाल ही में कूचबिहार में क्या हुआ था, सभी ने देखा है, जहां गोलीबारी में तीन लोग मारे गए थे, मैं प्रखंड विकास अधिकारियों और प्रभारी निरीक्षकों को सतर्क रहने के लिए कहूंगी। ममता बनर्जी 4 और 5 दिसंबर को नागालैंड के मोन जिले में सुरक्षा बलों द्वारा 14 नागरिकों की हत्या का जिक्र कर रही थीं। मुख्यमंत्री बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र का विस्तार करने के केंद्र के फैसले का भी विरोध कर रही हैं, इस कदम को देश के संघीय ढांचे में हस्तक्षेप करने का प्रयास उन्होंने करार दिया। भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने पंजाब, पश्चिम बंगाल और असम में अंतरराष्ट्रीय सीमा से पहले की 15 किलोमीटर की सीमा से 50 किलोमीटर के दायरे में तलाशी, जब्ती और गिरफ्तारी के लिए बल को अधिकृत करने के लिए बीएसएफ अधिनियम में संशोधन किया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अधिकारी परिवार के घर के ऊपर ड्रोन उड़ाये जाने से भड़के सांसद

खड़गपुर : पूर्व मिदनापुर जिले के कांथी के अधिकारी परिवार के आवास का नाम शांतिकुंज है। शुक्रवार को इस शांतिकुंज के ऊपर से ड्रोन उड़ाए आगे पढ़ें »

ऊपर