बड़ी खबर : नासिक के अस्पताल में ऑक्सीजन लीक होने से 22 मरीजों की मौत

नासिक: महाराष्ट्र के नासिक दर्दनाक हादसा हुआ है जहां जाकिर हुसैन हॉस्पिटल में ऑक्सीजन लीक होने से 22 मरीजों की मौत हो गई है। नासिक के जिलाधिकारी ने कहा कि रिसाव के बाद ऑक्सीजन आपूर्ति बाधित होने की वजह से 22 रोगियों की मौत हो गई। इससे पहले महाराष्ट्र के एफडीए मंत्री राजेंद्र शिंगने ने कहा था कि प्राथमिक सूचना मिली है कि ऑक्सीजन लीक होने से 11 लोगों की मौत हो गई है। हम विस्तृत रिपोर्ट के इंतजार में हैं। हमने जांच के आदेश दे दिए हैं। जो लोग दोषी होंगे, उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा।
नासिक के कमिश्नर के मुताबिक, 150 लोग अस्पताल में भर्ती थे। 23 लोग वेंटिलेटर पर थे अन्य लोग ऑक्सीजन पर थे। बताया जा रहा है कि हॉस्पिटल में ऑक्सीजन फीलिंग करते हुए ऑक्सीजन लीक हो गया। फायर ब्रिगेड की टीम ने मौके पर पहुंचकर ऑक्सीजन वॉल्व बंद किया। पाइप लाइन की लीकेज की वजह से सीरियस पेशेंट्स को दूसरे हॉस्पिटल में शिफ्ट किया गया है।
ऑक्सीजन लीकेज को लेकर महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि नासिक में टैंकर के वॉल्व के रिसाव के कारण बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन का रिसाव हुआ है। अस्पताल पर निश्चित रूप से इसका असर पड़ने वाला था। ज्यादा जानकारी मिलते ही हम एक प्रेस नोट जारी करेंगे।
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि नासिक के एक अस्पताल में ऑक्सिजन लीक होने से हुई दुर्घटना का समाचार सुन व्यथित हूं। इस हादसे में जिन लोगों ने अपनों को खोया है उनकी इस अपूरणीय क्षति पर अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं। बाकी सभी मरीजों की कुशलता के लिए ईश्वर से प्रार्थना करता हूं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुसाइड प्वाइंट बनता जा रहा है विद्यासागर सेतु

हावड़ा ब्रिज पर रेलिंग लगने के बाद यहां पर लोगों की संख्या बढ़ी पिछले दो महीने में 5 लोगों को पुलिस ने आत्महत्या करने से बचाया सन्मार्ग आगे पढ़ें »

कोरोना संक्रमित पिता के इलाज खर्च जुगाड़ नहीं कर पाया, बेटा कुएं में कूद कर मरा

सन्मार्ग संवाददाता दुर्गापुर : प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कोरोना संक्रमित पिता के इलाज का खर्च नहीं उठा पाने से तनावग्रस्त बेटे ने कुआं में कूदकर आत्महत्या आगे पढ़ें »

ऊपर