बड़ा हादसा : भंडारा के जिला अस्पताल में आग से 10 नवजातों की मौत

1 दिन से 3 महीने के बीच थी बच्चों की उम्र
महाराष्ट्र : महाराष्ट्र के भंडारा में शनिवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां के जिला अस्पताल में देर रात दो बजे आग लग गई। इसमें 10 नवजातों की मौत हो गई। इनकी उम्र एक दिन से लेकर 3 महीने तक है। आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि लापरवाही के लिए जिम्मेदार पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे, कलेक्टर और एसपी से बात की। वहीं, डिप्टी सीएम अजित पवार ने अर्जेंट बेसिस पर सभी अस्पतालों का ऑडिट करने का आदेश दिया है।
पूरे अस्पताल को पुलिस ने बंद करवा दिया है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। दम घुटने से मरने वाले बच्चों का पोस्टमॉर्टम नहीं किया जाएगा। घटना के पीछे की वजह का पता लगाकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। उन्होंने मारे गए बच्चों के परिवारों को पांच-पांच लाख रुपए की मदद का ऐलान किया है।
राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर जताया दुख
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भंडारा में हुए हादसे पर दुख जताया है। राष्ट्रपति ने कहा कि अस्पताल में शिशुओं की असामयिक मृत्यु से मुझे गहरा दुख हुआ है। घटना में अपनी संतानों को खोने वाले परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना।

शेयर करें

मुख्य समाचार

भगवानपुर में तृणमूल व भाजपा कर्मियों के बीच जबर्दस्त बमबाजी

शुभेन्दु अधिकारी के सभा में शामिल होने पहुंचे थे कार्यकर्ता खड़गपुर/कांथी: पूर्व मिदनापुर जिला अंतर्गत भगवानपुर में भाजपा व तृणमूल कर्मियों के बीच भारी बमबाजी होने आगे पढ़ें »

तृणमूल के और भी विधायक छोड़ेंगे पार्टी, क्या ममता उनकी सीटों से भी चुनाव लड़ेंगी : शुभेन्दु

नंदीग्राम : भाजपा में हाल ही में शामिल हुए शुभेंदु अधिकारी ने मंगलवार को दावा किया कि आने वाले दिनों में और भी विधायक तृणमूल आगे पढ़ें »

ऊपर