4 बड़े शहरों में 24 घंटे में 4,000 से ज्यादा केस, अंतिम संस्कार के लिए भी करना पड़ रहा है इंतजार

मध्यप्रदेश : मध्यप्रदेश के प्रमुख शहरों में लाॅकडाउन और नाइट कर्फ्यू के बाद भी कोरोना की रफ्तार काबू नहीं हो रही है। मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही संसाधन खत्म होते जा रहे हैं। इंदौर, भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर में श्मशान घाटों पर अंतिम संस्कार के लिए भी इंतजार करना पड़ रहा है। चिताएं ठंडी होने से पहले ही दूसरे शवों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है।

इन 4 बडे़ शहरों में 24 घंटे में कोरोना के 4,136 नए केस आए हैं और 21 लोगों की मौतें हुई हैं। इंदौर में सबसे ज्यादा 1,552 संक्रमित मिले हैं और 6 मौतें हुई हैं। भोपाल में 1,456 नए केस और 5 मौत हुई हैं। ग्वालियर में 576 संक्रमित मिले जबकि 6 लोगों की जान गई। जबलपुर में 552 नए मरीज मिले और 4 की मौत हो गई। ग्वालियर में संक्रमण दर सबसे ज्यादा 33% और भोपाल में 28% है। पूरे राज्य का आंकड़ा देखें तो सोमवार को 8998 लोग संक्रमित पाए गए। पॉजिटिविटी रेट भी बढ़कर 19% हो गया है।

जबलपुर के चौहानी श्मशान घाट में सोमवार को 30 कोरोना संक्रमितों के शवों का अंतिम संस्कार किया गया। प्रशासन के रिकॉर्ड में 2 दिन में 8 मौतें हुई हैं। वहीं दो कोरोना संदिग्ध शवों का अंतिम संस्कार किया गया। कई शवों को मेडिकल कॉलेज समेत निजी अस्पतालों में रोकना पड़ा। मोक्ष संस्था के आशीष ठाकुर के मुताबिक एक चिता जलाने के बाद उसे ठंडा होने में वक्त लगता है, पर चौहानी श्मशान घाट में एक चिता की लपटें बुझते ही दूसरी चिता सजानी पड़ रही है।

यही स्थिति भोपाल के भदभदा विश्राम घाट की है। यहां सोमवार को 41 कोरोना संक्रमितों के शव पहुंचे। जलाने के लिए जगह ही नहीं थी। जलती चिताओं के बीच बेहद नजदीक दूसरी चिताएं सजाई जा रही थीं। इंदौर के 5 श्मशान घाटों में 12 दिन में 990 अंतिम संस्कार किए गए हैं, जिसमें से 319 कोरोना संक्रमितों के शव थे। यहां भी अंतिम संस्कार के लिए इंतजार करना पड़ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता बनर्जी के 2 मंत्री सहित 4 नेताओं को मिली जमानत

- सीबीआई की हिरासत की अर्जी खारिज कोलकाताः नारदा स्टिंग ऑपरेशन मामले में गिरफ्तार मंत्री सुब्रत मुखर्जी, मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मे मेयर  शोभन चटर्जी और आगे पढ़ें »

चक्रवात ताउते में पी 305 नाव लापता, 273 लोग सवार

- आईएनएस कोच्चि सर्च और रेस्क्यू अभियान में जुटी मुंबई : चक्रवात ताउते का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है।  भीषण चक्रवाती तूफान ताउते अरब सागर आगे पढ़ें »

ऊपर