जब तक सूरज चांद रहेगा, रावत सर का नाम रहेगा…

सीडीएस बिपिन रावत समेत तमिलनाडु हेलिकॉप्टर क्रैश में जान गंवाने वाले सभी 13 लोगों को आज अंतिम विदाई दी जा रही है। जनरल बिपिन रावत का पार्थिव शरीर उनके आवास से बरार स्क्वायर ले जाया जा रहा है। यहां करीब शाम 5 बजे उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। उन्हें 17 तोपों की सलामी दी जाएगी। इस दौरान 800 जवान यहां मौजूद रहेंगे। इससे पहले जनरल बिपिन रावत का पार्थिव शरीर शुक्रवार को बेस हॉस्पिटल से उनके आवास लाया गया।  यहां सीजेआई एनवी रमन्ना, तीनों सेनाओं के प्रमुख, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, कांग्रेस नेता राहुल गांधी समेत तमाम नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। सीडीएस बिपिन रावत और मधुलिका रावत की बेटियों कृतिका और तारिनी ने अपने माता-पिता को श्रद्धांजलि दी। सीडीएस जनरल बिपिन रावत के अंतिम दर्शन के लिए सड़कों पर भारी संख्या में लोग जमा हुए हैं। सभी भारत माता की जय और वंदे मातरम बोल रहे हैं। भारत के पहले सीडीएस जनरल बिपिन रावत के अंतिम संस्कार में श्रीलंका, भूटान, नेपाल और बांग्लादेश के सैन्य कमांडर शामिल होंगे। चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के पार्थिव शरीर को उनके आवास से बरार स्क्वायर श्मशान घाट ले जाया जा रहा है। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी और नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने सीडीएस को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान जब तक सूरज, चांद रहेगा, रावत सर का नाम रहेगा… के नारे भी लगाये गये। शाम को  सीडीएस का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

11 दिसंबर को टेट की परीक्षा, 11000 से अधिक है वैकेंसी

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि  दुर्गा पूजा के बाद दिसंबर के दूसरे सप्ताह में प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के आगे पढ़ें »

पौधे लगा रहे किसान के खेत से निकला ‘बेशकीमती खजाना’!

नई दिल्ली : एक किसान पौधा लगाने के लिए जमीन खोद रहा था तभी उसका कुदाल किसी शख्त चीज से टकराने लगी। उसने अपने बेटे आगे पढ़ें »

ऊपर