ट्रंप के कार्यक्रम से केजरीवाल और सिसोदिया का नाम हटा

नई दिल्ली : अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी मेलानिया ट्रंप के लिए दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में आयोजित कार्यक्रम से दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री सिसोदिया का नाम हटा दिया गया है। सरकारी सूत्रों के अनुसार, केजरीवाल और सिसोदिया को इस कार्यक्रम में भाग लेना था क्योंकि यह कार्यक्रम जिस स्कूल में होने जा रहा है वह दिल्ली सरकार के अधीन आता है लेकिन अब दोनों का ही नाम कार्यक्रम से हटा दिया गया है। बता दें कि 24 फरवरी को ट्रंप के साथ उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप और बेटी इवांका भी दो दिवसीय यात्रा पर भारत आ रही हैं।

‘केजरीवाल का काम बोलता है’

अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप के स्वागत में 25 फरवरी को दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस दौरान मेलानिया स्कूल में हैप्पीनेस क्लास भी देखेंगी। पहले यह चर्चा थी कि दिल्ली में मेलानिया का स्वागत केजरीवाल करेंगे। लेकिन, अब नाम हटाए जाने के बाद केजरीवाल और सिसोदिया इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे। इसपर आम आदमी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रीति शर्मा मेनन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भले ही अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया को आमंत्रित नहीं किया है लेकिन केजरीवाल का काम बोलता है।

अमेरिकी दूतावास के अनुरोध पर हटाया नाम

मेलानिया के कार्यक्रम से केजरीवाल और सिसोदिया का नाम हटाए जाने को लेकर दिल्ली के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा, ‘फिलहाल सरकार के पास इसकी कोई आधिकारिक जानकारी या सूचना नहीं है।’ वहीं, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, ‘कुछ मुद्दों पर निम्न स्तर की राजनीति नहीं होनी चाहिए। ऐसा करने से भारत विवादों में आता है। अमेरिका को भारत सरकार यह नहीं बताती कि किसे आमंत्रित करना है और किसे नहीं।’ सूत्रों के अनुसार, इस कार्यक्रम से दिल्ली के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री को बाहर रखने के लिए अमेरिकी दूतावास ने अनुरोध किया था।

स्कूल में करीब 1 घंटे तक रुकेंगी मेलानिया

गौरतलब है कि भारत यात्रा के दौरान जिस वक्त डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच मुलाकात चल रही होगी, उस समय मेलानिया ट्रंप केजरीवाल सरकार के स्कूल के दौरे पर होंगी। वे स्कूल में करीब 1 घंटे तक रुकेंगी और हैप्पीनेस क्लास देखेंगी। बता दें कि बच्चों के मानसिक तनाव और अवसाद को दूर करने के उद्देश्य से केजरीवाल सरकार द्वारा वर्ष 2018 में हैप्पीनेस क्लास शुरू की गई। यह क्लास नर्सरी से आठवीं तक के छात्रों के लिए है जिसमें लिखित परीक्षा के बजाय बच्चे के हैप्पीनेस इंडेक्स का मूल्यांकन किया जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों को मेरे खेल के खत्म होने के बारे में लिखने की आदत है, मुझे फर्क नहीं : सुशील

नयी दिल्ली : दिग्गज पहलवान सुशील कुमार उम्र के ऐसे पड़ाव पर है जहां ज्यादातर खिलाड़ी संन्यास की घोषणा कर देते है लेकिन ओलंपिक में आगे पढ़ें »

कोरोना से हुए नुकसान को कम करने के लिए सरकार जल्द नए राहत पैकेजों की घोषणा करेगी

नई दिल्ली : कोरोना के कारण हुए लॉक डाउन के कारण देश की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। वित्त मंत्रालय लगातार राहत पैकेज पर आगे पढ़ें »

ऊपर