कर्नाटक के एकमात्र बसपा विधायक फ्लोर टेस्ट में नहीं होंगे शामिल

Karnataka BSP MLAs will not be included in floor test

बेंगलुरु : कर्नाटक में जारी सियासी संकट का अंत जल्द ही हो सकता है क्योंकि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार को सोमवार को सदन में बहुमत साबित करना है। इससे पहले कर्नाटक की कुमारस्वामी सरकार को एक बड़ा झटका लगा है। राज्य के बसपा के इकलौते विधायक एन महेश फ्लोर टेस्ट में शामिल नहीं होंगे क्योंकि पार्टी सुप्रीमो मायावती ने उन्हें इसके लिए निर्देश दिया है।
एक-एक वोट कीमती है
महेश ने कहा है कि, ‘मुझे मायावती जी ने निर्देश दिया है, इसलिए मैं सोमवार(22 जुलाई) को कर्नाटक विधानसभा में होने वाले फ्लोर में भाग नहीं लूंगा।’ बसपा विधायक के इस फैसले से कुमारस्वामी सरकार को झटका लगा है क्योंकि वह पहले से ही अल्पमत में चल रही है। ऐसे वक्त में एक-एक वोट कीमती है। ऐसे में अगर वो बहुमत साबित नहीं कर पाई तो सरकार गिर जाएगी। इसलिए सरकार वहां एड़ी चोटी का जोर लगा रही है। रविवार को मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने कांग्रेस-जेडीएस विधायकों के साथ ताज होटल में बैठक की।
बागी विधायक ‌सिखाना चाहते है सबक
दूसरी ओर बागी विधायकों को मुंबई में रखा गया है। विधायकों का कहना है कि, ”हम यहां सिर्फ गठबंधन (कांग्रेस-जेडीएस) सरकार को सबक सिखाने के लिए आए हैं। इसके अलावा कोई दूसरा मकसद नहीं है। हम यहां पैसे या किसी दूसरी चीज के लालच में नहीं आए। एक बार सबकुछ ठीक हो जाए, बेंगलुरु लौट जाएंगे।”
बता दें कि राज्यपाल वजुभाई वाला ने कर्नाटक सरकार को बहुमत साबित करने के लिए शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे और फिर शाम 6 बजे तक की डेडलाइन दी थी। लेकिन मुख्यमंत्री ने विश्वास मत साबित नहीं किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पीएम ने पूछा बंगाल में क्या हो रहा है

भाजपा नेता ने निजी सचिव को सौंपी न्यूज क्लिपिंग व वीडियो फुटेज सन्मार्ग संवाददाता अंडाल : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को झारखण्ड के दुमका जाने के क्रम आगे पढ़ें »

dhankhad

राज्यपाल ने मुख्य सचिव और डीजी को बुलाया

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पिछले 3 दिनों से राज्यभर में हिंसा जारी है। इसी बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने सोमवार को राज्य के मुख्य सचिव राजीव आगे पढ़ें »

ऊपर