कच्चे जूट की कीमत को लेकर जूट सचिव ने की बैठक

मौजूदा समय में राज्य की 11 जूट मिलें हैं बंद
सन्मार्ग संवाददाता
नयी दिल्ली/कोलकाता : सोमवार को वस्त्र मंत्रालय ने कच्चे जूट के मूल्य निर्धारण पर चर्चा के लिए नयी दिल्ली में एक बैठक बुलाई जिसमें पश्चिम बंगाल श्रम विभाग के प्रधान सचिव वरुण कुमार राय के अलावा भारतीय जूट मिल संघ (आईजेएमए) के चेयरमैन राघव गुप्ता व डिप्टी चेयरमैन ऋषभ काजरिया, जूट आयुक्त मलय चंदन चक्रवर्ती मौजूद थे। वहीं वस्त्र मंत्रालय से सेक्रेटरी उपेंद्र सिंह और ज्वाइंट सेक्रेटरी प्राजक्ता वर्मा ने इस बैठक की अध्यक्षता की। यहां उल्लेखनीय है कि भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने केंद्र की जूट नीति की आलोचना की थी और आयुक्त पर कच्चे जूट की कीमत 6,500 रुपये प्रति क्विंटल बनाए रखने का आरोप लगाते हुए उद्योग को पंगु बनाने का आरोप लगाया था। सूत्र ने बताया, ‘केंद्रीय वस्त्र सचिव ने अपराह्न 3 बजे उद्योग भवन (नयी दिल्ली) में बैठक बुलायी। ये बैठक लगभग 2 घण्टे तक चली।’ उन्होंने कहा, ‘गत वर्ष 30 सितंबर से मूल्य सीमा लागू किए जाने के बाद से मंत्रालय के सभी प्रमुख हितधारकों के साथ यह पहली बैठक हुई।’ हावड़ा, हुगली और उत्तर 24 परगना जिलों में जूट मिल में लगभग 2.5 लाख श्रमिक कार्यरत हैं। बैरकपुर के भाजपा सांसद सिंह ने अपने निर्वाचन क्षेत्र की विभिन्न मिलों में विरोध प्रदर्शन करने की धमकी दी थी ताकि यह उजागर किया जा सके कि केंद्र की नीतियां ‘किसानों और श्रमिकों को कैसे नुकसान पहुंचा रही हैं।’
इधर, इस बैठक को लेकर इज्मा के चेयरमैन राघव गुप्ता ने बताया कि वस्त्र मंत्रालय के सचिव द्वारा आश्वासन दिया गया है कि इस संबंध में जल्द ही मंत्री से बात कर कोई निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुख्य रूप से दो मुद्दों पर चर्चा की गयी जिसमें जूट की कीमत और कच्चे जूट की अधिकतम कीमत 6,500 रुपये तय करने के केंद्र के निर्णय पर बात हुई। उन्होंने कहा कि जूट मालिकों को 7,000 से 7,200 रुपये की कीमत से कच्चा जूट बेचना पड़ा जबकि अधिकतम कीमत 6,500 रुपये तय कर दी गयी थी। इस कारण जूट मालिकों को काफी नुकसान का सामना करना पड़ा। बैठक में सचिव ने सभी मुद्दों पर गंभीरता से चर्चा की और इस संबंध में जल्द ही मंत्री से बात कर समाधान निकालने का आश्वासन दिया है।
अर्जुन सिंह ने कहा, उम्मीद है जल्द होगा समस्या का हल
बताया जा रहा था कि बैठक में नहीं बुलाये जाने के कारण भाजपा सांसद अर्जुन सिंह नाराज हैं। हालांकि सन्मार्ग से बात में उन्होंने नाराजगी की बात खारिज कर दी। उन्होंने कहा कि इस बैठक में उनको बुलाये जाने की कोई बात ही नहीं थी, फिर नाराजगी किस बात की। इसके साथ ही अर्जुन सिंह ने कहा कि इस दिन की बैठक सकारात्मक रही है और उम्मीद है कि जल्द ही इस समस्या का हल निकलेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः सिक्किम में बड़ी सड़क दुर्घटना, मौके पर ही 5 लोगों की मौत

- महाराष्ट्र के 5 पर्यटकों की मौत सिलीगुड़ी: सिक्किम के चुंगथांग थाना क्षेत्र के खेडुंग के पास एस के 03 जे 0551 नंबर की वाहन दुर्घटनाग्रस्त आगे पढ़ें »

ऊपर