योग को धर्म और मजहब से जोड़ना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण : कोविंद

भोपाल : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को कहा कि कुछ लोग योग को धर्म और मजहब से जोड़ रहे हैं, जो बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है।
रामनाथ कोविंद शनिवार को यहां आरोग्य भारती की ओर से आयोजित ‘एक देश, एक स्वास्थ्य – वर्तमान समय की आवश्यकता’ पर ‘आरोग्य मंथन’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने स्वस्थ रहने के लिए सरल जीवनशैली, संतुलित खानपान और योग आदि पर जोर दिया। इसी क्रम में उन्होंने कहा कि कुछ लोग गलतफहमी फैलाने के लिए योग को धर्म और मजहब से जोड़ देते हैं। उन्होंने एक उदाहरण देते हुए कहा कि किसी डॉक्टर के पास अगर दो मजहब के लोग जाएं और डॉक्टर उन्हें योगासन करने को कहे तो कोई भी मजहब का व्यक्ति डॉक्टर का विरोध नहीं करेगा क्योंकि उसे अपने स्वास्थ्य की चिंता है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सुधार के लिए वह व्यक्ति योग अवश्य करेगा।
राष्ट्रपति ने कहा कि ये मुद्दे भ्रांतियां फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। रोग निवारण में कभी भी मजहब आड़े नहीं आता। इस पर भी ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है। समझने की आवश्यकता है कि प्रकृति के साथ संपर्क में रह कर ही स्वस्थ रहा जा सकता है।
ड्रोन पर प्रतिबंधवहीं, मध्य प्रदेश की धार्मिक नगरी उज्जैन में जिला प्रशासन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरे के मद्देनजर ड्रोन पर प्रतिबंध लगाया। आधिकारिक जानकारी के अनुसार राष्ट्रपति कोविंद के 29 मई के दौरे के मद्देनजर कलक्टर एवं जिला दंडाधिकारी आशीष सिंह ने यहाँ हेलीपेड, सर्किट हाउस, श्री महाकालेश्वर मंदिर परिसर और कालिदास अकादमी परिसर से दो किलोमीटर की दूरी में तत्काल प्रभाव से ड्रोन उड़ाने पर प्रतिबंध लगा दिया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

माल टाउन तृणमूल हिंदी प्रकोष्ठ अध्यक्ष रमेश गिरी ने शंकर छेत्री को दी श्रद्धांजलि

मालबाजारः मणिपुर राज्य के नोनी जिले में ड्यूटी के दौरान शहीद हुये नागराकाटा मंगरुपाड़ा इलाके के निवासी शंकर छेत्री को डुआर्स समेत मालबाजार वासियों ने आगे पढ़ें »

ऊपर