18 घंटे से 50 फीट गहरे बोरवेल में फंसा मासूम….

राजस्थान :  राजस्थान के सीकर के बिजारणिया की ढाणी में 18 घंटे से एक चार साल का मासूम बोरवेल में फंसा हुआ है। बच्चे के माता-पिता और बहन कैमरे पर देखकर रातभर उसे आवाज लगाते रहे। मासूम बच्चा 50 फीट गहरे बोरवेल में फंसा है। बचाव दल की टीम ने करीब 38 फीट तक खुदाई कर ली है। रेस्क्यू टीम से बच्चा सिर्फ 12 फीट की दूरी पर बचा है। ऐस में उम्मीद जताई जा रही है कि उसे जल्द ही सकुशल बाहर निकाल लिया जाएगा। गुरुवार देर शाम से एसडीआरएफ सहित अन्य बचाव दल की टीम रेस्क्यू अभियान चला रहीं हैं। बचाव दल की टीम ने बोरवेल में टोकरी लटका कर मासूम रविन्द्र को ऊपर लाने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। चार साल का मासूम टोकरी की रस्सी पकड़ लेता था पर उस पर चढ़ नहीं पाया। उधर, बचाव दल की टीम बोरवेल के पास खुदाई कर एक सुरंग बना रही है। 50 फीट गहरे बोरवेल तक पहुंचने के लिए टीम ने 38 फीट तक खुदाई कर ली है। खुदाई का काम लगातार किया जा रहा है।

टीम ने पाइप से पहुंचाई ऑक्सीजन
बचाव दल की टीम ने बच्चे तक पाइप के जरिए ऑक्सीजन पहुंचाई है। उसे खाने के लिए बिस्किट भी दिए गए है। बच्चे के परिजन उससे लगातार बात भी कर रहे हैं। हालांकि, बच्चे के बोरवेल में गिरने के बाद से उसके माता-पिता और बहन का भी बुरा हाल, लेकिन वह उसे दिलासा देने में लगे हुए हैं
मौके पर मौजूद है तमाम अधिकारी
घटना स्थल पर दांतारामगढ़ विधायक चौधरी वीरेन्द्र सिंह, कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी, एडीएम धारा सिंह मीणा, एसपी कुंवर राष्ट्रदीप, एसडीएम राजेश मीणा सहित कई प्रशासनिक अधिकारी और स्थानीय जनप्रतिनिधी मौके पर मौजूद हैं।
गुरुवार शाम चार बजे बोरबेल में गिरा था मासूम
दरअसल, खाटूश्यामजी थाना इलाके के बिजारणियां की ढाणी में लक्ष्मणराम जाट के खेत में बोरवेल की खुदाई हुई थी। गुरुवार शाम चार बजे चार साल का रविन्द्र खेलते-खेलते उसमें गिर गया। घटना की जानकारी लगते ही पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और मासूम को 50 फीट गहरे बोरवेल से निकालने का अभियान शुरू किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

चतुर्थी से महानगर की सड़कों पर सुरक्षा की कमान संभालेंगे पुलिस कर्मी

5 हजार पुलिस और 10 हजार अस्थायी होम गार्ड रहेंगे तैनात तीन शिफ्टों में काम करेंगे पुलिस कर्मी कोलकाता : कोविड काल के बाद इस साल आयोजित आगे पढ़ें »

शुगर से पाना चाहते हैं छुटकारा! आज से ही शुरू करें ये काम

कोलकाताः मौजूदा भाग दौड़ के दौर में शुगर की समस्या बेहद आम हो चली है। खराब खानपान और जीवनशैली के चलते शुगर के मरीजों की आगे पढ़ें »

ऊपर