आधी रात अनजान लड़के को बुलाया घर फिर हुई…

नई दिल्ली : कई बार जोश में व्यक्ति ऐसी गलतियां कर बैठता है जिसका बाद में पछतावा होता है। एक महिला के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है। महिला को एक व्यक्ति के साथ रिलेशनशिप में आना काफी भारी पड़ गया। यह महिला इस व्यक्ति से ऑनलाइन डेटिंग ऐप के जरिए मिली थी लेकिन उसे शायद ही अंदाजा था कि ये शख्स उसकी पूरी जिंदगी बदलकर रख देगा। आइए जानते हैं इस महिला की पूरी कहानी…
कैसे HIV पॉजीटिव हुई महिला
महिला ने बताया कि उसने एक ऐसे व्यक्ति के साथ रिलेशन बनाया जिसे एचआईवी था। महिला ने कहा, उसने अपनी इस कंडीशन के बारे में मुझसे झूठ बोला लेकिन मैंने उसे पूरी तरह से माफ कर दिया।
महिला ने बताया कि साल 2003 में वह 19 साल की थी और उस समय वह पर्थ (ऑस्ट्रेलिया) में पढ़ाई कर रही थी। उसी दौरान उसकी डेटिंग वेबसाइट पर एक बेहद ही हैंडसम व्यक्ति से मुलाकात हुई। कुछ दिन चैटिंग करने के बाद हमने मेरे घर पर मिलने का प्लान बनाया। जब वह व्यक्ति मेरे घर आया तो चीजें काफी ज्यादा आगे बढ़ीं। ये सब कुछ अचानक हो रहा था। मैंने रोमांस से पहले सीधे उस व्यक्ति से पूछा ‘ क्या तुम्हें एचआईवी है?’ इसके लिए उसने मना करते हुए अपना सिर हिलाया और मैंने भी उसकी बातों पर भरोसा कर लिया। साल 2003 में ही मुझे भयंकर फ्लू हुआ जिसके बाद मैंने टेस्ट करवाए। फरवरी में, मैं अपनी फ्रेंड के साथ एक एचआईवी क्लिनिक गई। जहां हम दोनों ने ही टेस्ट कराया। एक हफ्ते के बाद जब हम क्लिनिक में दोबारा से गए तो मेरी फ्रेंड की रिपोर्ट नेगेटिव आई। लेकिन मुझे पता था कि मैं किसी मुसीबत में हूं। मैं कंसल्टिंग रूम में गई जहां मुझे डॉक्टर ने बताया कि मैं एचआईवी पॉजीटिव हूं। उस समय मेरी उम्र 20 साल थी। कुछ महीने बीतने के बाद मैंने एक एचआईवी-फ्रेंडली डेटिंग वेबसाइट सर्च की और पर्थ के ही रहने वाले एक लड़के के साथ चैटिंग शुरू कर दी। चैटिंग के दौरान हम दोनों ने अपनी फोटोज शेयर की। उस लड़के की फोटोज देखते ही मैं उसे तुरंत पहचान गई। वो लड़का वही था जिससे मैं एक साल पहले मिली थी। उसे मेरी शक्ल बिल्कुल भी याद नहीं थी लेकिन उसे देखते ही मुझे सारी बातें याद आ गई।
इसके बावजूद भी मैंने उससे बातें की और उसकी पसंद और नापसंद के बारे में पूछा और साथ ही यह भी जानने की कोशिश की कि वह कंडोम के इस्तेमाल को लेकर क्या सोचता है। इसके बाद मैंने गहरी सांस ली और उससे पूछा कि क्या वह एचआईवी पॉजीटिव है। इसके जवाब में उसने कहा, हां, 15 साल हो गए हैं’।
इससे मुझे पुरानी बातें याद आने लगी कि कैसे इस व्यक्ति ने मुझे एचआईवी से संक्रमित किया। महिला ने कहा कि जो कुछ भी हुआ, मैंने उससे यह सीखा कि चीजें बदलती रहती हैं और कभी भी एक जैसी नहीं रहती और कुछ बदलाव तो ऐसे होते हैं जिनके बारे में हमने सपनों में भी नहीं सोचा होता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दुर्गापूजा से पहले नये कलेवर में सजेगा बंगाल का होम स्टे

 नजर होम स्टे पर 80% होम स्टे उत्तर बंगाल में हैं, 20% दक्षिण बंगाल में इन जगहों पर हैं होम स्टे कलिम्पोंग दार्जिलिंग कर्सियांग जलपाईगुड़ी अलीपुरदुआर का डुआर्स बांकुड़ा पुरुलिया हुगली बंगाल में होम स्टे की आगे पढ़ें »

ऊपर