फेसबुक पर कोई जानकारी साझा करें तो थोड़ा बचके, होगी कार्रवाई

कोलकाताः फेसबुक हम सबकी जिंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है। सुबह नींद से जागने के बाद और रात को सोने तक फेसबुक किसी नी किसी तरह से अपनी आमद दर्ज कराता रहता है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में फेसबुक अपनी दमदार मौजूदगी को पहले ही दर्ज करा चुका है। लेकिन देखा गया कि बहुत से लोग इस माध्यम का बेजा इस्तेमाल कर रहे हैं। लेकिन इस तरह की हरकत करने वालों को चेतने की जरूरत है। दरअसल फेसबुक ने फैसला किया है कि वो ऐसे लोगों पर कड़ी कार्रवाई करेगा जो भ्रामक जानकारी साझा करते हैं।मौजूदा समय में अगर कोई यूजर जानकारी साझा करता है तो फैक्ट चेक के बाद नोटिफिकेशन भेजा जाता है लेकिन अब से रिडिजाइन कर और आसान बनाया जा रहा है।

नए तरीकों के जरिए लोगों को जानकारी
हम लोगों को यह सूचित करने के लिए नए तरीके लॉन्च कर रहे हैं कि क्या वे फैक्ट-चेकर द्वारा रेटिंग की गई सामग्री के साथ इंटरैक्ट कर रहे हैं और साथ ही उन लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं जो बार-बार फेसबुक पर गलत सूचना साझा करते हैं। चाहे वो कोविड 19 टीकों, जलवायु परिवर्तन, चुनाव या अन्य विषयों के बारे में झूठी या भ्रामक सामग्री हो। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि कम लोग हमारे ऐप्स पर गलत सूचना देखें, ”सोशल मीडिया दिग्गज ने एक बयान में कहा।फेसबुक उन व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं के पोस्ट के समाचार फीड में वितरण को भी कम करेगा, जिन्होंने कंपनी के तथ्य-जांच भागीदारों द्वारा बार-बार झूठी सामग्री साझा की है।

हम किसी व्यक्ति के फेसबुक अकाउंट से न्यूज फीड में सभी पोस्ट के वितरण को कम कर देंगे यदि वे बार-बार ऐसी सामग्री साझा करते हैं जिसे हमारे किसी तथ्य-जांच भागीदार द्वारा रेट किया गया है। हम न्यूज फीड में एक पोस्ट की पहुंच को पहले ही कम कर देते हैं यदि इसे खारिज कर दिया गया है।इसके अलावा, फेसबुक एक नया टूल लॉन्च कर रहा है जो उपयोगकर्ताओं को यह बताएगा कि क्या वे उस सामग्री के साथ इंटरैक्ट कर रहे हैं जिसे किसी तथ्य-जांचकर्ता द्वारा रेट किया गया है।

गलत जानकारी देने वालों पर खास नजर
हम लोगों को उस पेज को पसंद करने से पहले अधिक जानकारी देना चाहते हैं जिसने बार-बार ऐसी सामग्री साझा की है जिसे तथ्य-जांचकर्ताओं ने रेट किया है, इसलिए यदि आप इनमें से किसी एक पेज को पसंद करते हैं तो आपको एक पॉप अप दिखाई देगा। आप अधिक जानने के लिए भी क्लिक कर सकते हैं। उस तथ्य-जांचकर्ताओं सहित, ने कहा कि इस पृष्ठ द्वारा साझा की गई कुछ पोस्टों में गलत जानकारी और हमारे तथ्य-जांच कार्यक्रम के बारे में अधिक जानकारी का लिंक शामिल है।

इसके अलावा, फेसबुक अब उपयोगकर्ताओं को अपने प्लेटफॉर्म पर और साथ ही इंस्टाग्राम पर लोगों को अपने अनुभव पर नियंत्रण देने के कंपनी के प्रयासों के हिस्से के रूप में अपनी सार्वजनिक ‘लाइक’ गिनती छिपाने की अनुमति देगा। यूजर्स सेटिंग में नए पोस्ट सेक्शन में जाकर दूसरों की पोस्ट पर ‘लाइक’ काउंट्स को हाइड कर सकेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

लड़कियों के स्तनों को छूने से पहले…

कोलकाता : जानना चाहते हैं कि किसी लड़की के स्तनों को कैसे छुएं। बहुत से पुरुषों को समझ नहीं आता है कि वह पहली बार आगे पढ़ें »

ऊपर