टीका लगाने से पहले देख लें कहीं आपको यह समस्या तो नहीं

कोलकाताः देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान शुरू किया जा चुका है। इस दौरान कई लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है तो कुछ अभी भी बाकी हैं। इनमें ऐसे भी लोग हैं जो वैक्सीन के बाद होने वाली समस्या से घबराकर इसे लगवाना टालना चाहते हैं। इन्हें डर है कि इससे उनकी सेहत पर किसी तरह का कोई बुरा प्रभाव न हो जाए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइंस के अनुसार टीका लगवाने से पहले कुछ सामान्य बातों का ध्यान रखना जरूरी है। वहीं, डॉक्टर्स भी कहते हैं कि जिन लोगों को कुछ समस्याएं हैं उन्हें कोरोना वैक्सीनेशन से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर करनी चाहिए। आज हम आपको इसी से संबंधित जानकारी देने जा रहे हैं कि कौन-कौन सी समस्या के दौरान हमें वैक्सीन लगवाने से पहले डॉक्टर से सलाह करनी चाहिए? आइए जानते हैं…
कोरोना पॉजिटिव न लगवाएं वैक्सीन

कोरोना पॉजिटीव मरीज को कोरोना वैक्सीन नहीं लगवानी चाहिए। हालांकि, जो इसके संक्रमण से सही हो चुके हैं वो ये वैक्सीन लगवा सकते हैं। जो लोग गंभीर तौर पर बीमार हैं या हॉस्पिटल में भर्ती हैं उनको भी कोरोना वैक्सीन न लगाने की सलाह दी गई है।
किसी तरह के ट्रीटमेंट या दवाई लेने पर न लें वैक्सीन
अगर आपका कोई इलाज चल रहा है या आप किसी बीमारी की दवाई खाते हैं तो वैक्सीन लगवाने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें। बिना सलाह किए वैक्सीन लगवाना आपके लिए समस्या खड़ा कर सकता है।
शुगर, हाई या लो ब्लड प्रेशर की समस्या होने पर
अगर आप डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर या लो ब्लड प्रेशर के पेशेंट हैं तो कोरोना टीका लगवाने से पहले डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। आपको इस बात का खास ख्याल रखना है कि शुगर और बल्ड प्रेशर दोनों नोर्मल हो, तभी टीका लगवाने के लिए जाएं।
गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाएं न लें वैक्सीन
डॉक्टर के अनुसार गर्भवती महिला या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी कोरोना वैक्सीन न लगवाने की सलाह दी गई है। बता दें कि अभी तक गर्भवती या दूध पिलाने वाली महिलाओं पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन को लेकर किसी तरह का कोई ट्रायल नहीं किया गया है। इसके अलावा भारतीय वैक्सीन कंपनी की मानें तो ये वैक्सीन गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है।
एलर्जी होने पर टीका लगाने से बचें
अगर आपको किसी चीज या खानपान से एलर्जी हो जाती है तो वैक्सीन लगवाने से पहले डॉक्टर से सलाह करें। इसके अलावा अगर कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगवाने के बाद कोई एलर्जी या समस्या हुई है तो दूसरी डोज से पहले डॉक्टर से जरूर सलाह करें।
शराब पीते हैं तो वैक्सीन से पहले रखें इसका ध्यान
शराब पीने वालों पर वैक्सीन का कैसा असर हो सकता है इसका कोई डेटा सामने नहीं आया है। हालांकि, शराब से इम्युनिटी पर बुरा असर होता है जो इसे कमजोर बना देती है। ऐसे में डॉक्टर के अनुसार वैक्सीन लगवाने के करीब एक हफ्ते पहले और बाद शराब का सेवन नहीं करना चाहिए।
इन तत्वों से एलर्जी होने पर डॉक्टर्स से करें सलाह
कोविशील्ड वैक्सीन में कई तरह के तत्व मौजूद हैं। जैसे- मैग्नीशियम, एल-हिस्टिडीन हाइड्रोक्लोराइड, क्लोराइड हेक्सा हाइड्रेट आदि तत्व हैं। अगर आपको इनमें से किसी तत्व से एलर्जी है या फिर टीका लगवाने से एलर्जी हो जाती है तो कोरोना वैक्सीन लगवाने से पहले डॉक्टर से सलाह करें।

कोरोना वैक्सीनेशन के बाद दिख सकते हैं ये लक्षण
अगर कोविशील्ड वैक्सीन लगने वाली जगह पर सूजन या दर्द हो या फिर सिरदर्द, बेचैनी, चक्कर आने की समस्या, बुखार, जोड़ों या शरीर में दर्द, जुकाम होने जैसी समस्या हो तो घबराए नहीं। एक-दो दिन से ज्यादा दिनों तक अगर इन में से कोई समस्या हो रही हो तो डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। आप चाहें तो हेल्प डेस्क के टोल फ्री नंबर 18001200124 पर संपर्क कर कोविशील्ड वैक्सीन से जुड़ी जानकारी ले सकते हैं।
एक ही कंपनी की लगवानी चाहिए दोनों डोज
सबसे पहले आपको इस बात का खास ध्यान रखना है कि आपने जिस कंपनी की पहली डोज लगवाई है, दूसरी डोज भी उसी कंपनी की होनी चाहिए। दरअसल, भारत में सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैकिसी और भारत बायोटेक की कोवैक्सिन के प्रयोग की अनुमति दी गई है। इसलिए अगर आपने पहली डोज कोवैक्सिन की लगवाई है तो दूसरी डोज भी इसी की लगवानी चाहिए।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

बारिश ने छीन ली फैंस के चेहरे से मुस्कान

साउथैम्पटन: भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के पहले दिन का खेल शुक्रवार को लगातार बारिश के कारण नहीं हो पाया। आज पूरे आगे पढ़ें »

बड़ी खबरः मिल्खा सिंह की सेहत बिगड़ी

चंडीगढ़: भारत के महान धावक मिल्खा सिंह के स्वास्थ्य की जानकारी देते हुए पीजीआईएमईआर अस्पताल ने कहा कि शुक्रवार को उनका ऑक्सीजन स्तर गिर गया और आगे पढ़ें »

ऊपर