2026 में बस जाएगी मंगल और गुरू के बीच इंसानी बस्ती- वैज्ञानिक ने किया दावा

नई दिल्ली : कई लोगों को लग रहा हो कि वैज्ञानिक अनुसंधान और शोधों का ध्यान अब अंतरिक्ष से हटकर पृथ्वी की जलवायु परिवर्तन पर ज्यादा होने वाला है। फिर भी अंतरिक्ष अनुसंधान पर हो रहे शोधों में कमी आएगी इसकी संभावना कम ही है। दुनिया के तमाम देशों के मंगल और अन्य अंतरिक्ष अनुसंधान अपनी योजनाओं पर काम करते ही रहेंगे जो बहुत दूरगामी हैं। इसी बीच फिनलैंड के एक वैज्ञानिक ने अपने तर्कों के साथ दिलचस्प दावा किया है कि साल 2026 तक मंगल और गुरू ग्रह के बीच इंसानी बस्ती बस सकती है। फिनलैंड के वैज्ञानिक डॉ पेक्का जेनह्यूनेन  ने यह बड़ा दावा किया है कि मंगल  और गुरू  ग्रह के बीच क्षुद्रग्रहों की पट्टी  में एक बड़े पिंड में इंसान की बस्ती बसाई जा सकती है। मजेदार बात यह है कि यह दावा किसी विज्ञान फंतासी की किताब या लेखक ने नहीं की है। जेनह्यूनेन एक अंतरिक्ष भौतिकविद, खगोलजीवविज्ञानी और आविष्कारक हैं। यही वजह है कि उनका यह दावा भले ही कितना अव्यवहारिक या असंभव लगे, लेकिन लोगों का ध्यान खीचने में सफल रहा है।

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

तवा और कढ़ाही होते हैं राहु का प्रतीक, भूलकर भी न करें ये गलति‍यां

कोलकाताः आपने कभी सोचा है क‍ि आपकी लाइफ में कई सारी टेंशन की वजह आपके क‍िचन में इस्‍तेमाल होने वाला तवा और कढ़ाही भी हो आगे पढ़ें »

कालीघाट में कार में मिला व्यक्ति का शव

कोलकाता : कालीघाट थानांतर्गत एसपीएम रोड पर कार के अंदर से एक व्यक्ति का शव बरामद किया गया। मृतक का नाम विरेन्द्र कुवर है। वह आगे पढ़ें »

ऊपर