COVID-19 वैक्सीन सर्टिफिकेट में गलती आप पड़ सकती है भारी, घर बैठे ऐसे करें फटाफट ठीक

कोलकाताः भारत में कोविड-19 वैक्सीन की दोनों खुराक प्राप्त करने के बाद, सरकार एक वैक्सीन प्रमाणपत्र जारी करती है जो एक आधिकारिक दस्तावेज के रूप में कार्य करता है कि आपको टीका लगाया गया है। इसी वजह से अगर आपके दोनों वैक्सीन लग गई हैं तो अपने सर्टिफिकेट की डिटेल्स को ध्यान से देख लें। क्योंकि हाल ही में कई ऐसे केसेस सामने आए हैं जहां Vaccination Certificate में कुछ गलतियां सामने आई हैं। जिसको देखते हुए अब केंद्र सरकार ने इस प्रमाणपत्र में हुई गलतियों को खुद ठीक करने का मौका दिया है, ये काम Cowin Portal के जरिए किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं गलतियां ठीक करने का प्रोसेस:
ऐसे सुधारें वैक्सीन सर्टिफिकेट में हुई गलतियां

  • इसके लिए सबसे पहले कोविन पोर्टल www.cowin.gov.in पर जाएं।
  • अपने 10 अंकों के मोबाइल नंबर के जरिए साइन करें।
  • अकाउंट डिटेल्स में जाएं।
  • अगर आपने वैक्सीन की एक भी डोज लगवा लिया है, तो वहां Raise an Issue का बटन दिखेगा। इस पर क्लिक करें।
  • Correction In Certificate पर क्लिक करें।
  • नीचे उन जानकारियों पर क्लिक करें, जिनमें हुई गलती को आप सुधारना चाहते हैं। ध्यान रहे कि नाम, जन्म, वर्ष और जेंडर में सिर्फ दो ही जानकारी सुधारी जा सकती है और एक बार ही बदलाव को मंजूरी है। ऐसे में बदलाव करते समय सभी जानकारियों को सही तरीके से भरें।
  • Continue पर क्लिक करें।
  • इसके बाद दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें और आपकी जानकारियां अपडेट हो जाएंगी जो फाइनल सर्टिफिकेट में दिखाई देने लग जाएंगी।
  • इस सर्टिफिकेट को आप COWIN वेबसाइट या आरोग्य सेतु ऐप से डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस सर्टिफिकेट में 13 डिजिट की लाभार्थी आईडी दी होती है जिससे आपकी वैक्सीन से जुड़ी डिटेल्स की जानकारी मिल जाती है।
  • जैसे की कब आपको डोज लगी, कौनसी वैक्सीन की डोज लागी, किस हेल्थ ऑफिसियल ने आपको वैक्सीन लगाई और वैक्सीन की डोज कहाँ लगी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अब कोलकाता पुलिस के कर्मी कर सकेंगे स्वेच्छा से अंगदान

ऑर्गन डोनेशन के लिए भी भर सकते हैं फॉर्म सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अगर कोई अंगदान करना चाहता है और उसे नियम नहीं पता तो उसकी मुश्क‌िल आगे पढ़ें »

ऊपर