कोरोना से बचाव के लिए पहन रहे हैं डबल मास्क,ये बातें जान लें

कोलकाता: कोरोना संक्रमण से बचाव में मास्क की भूमिका पर कोई संदेह नहीं है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से लेकर दुनिया भर के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने महामारी से बचाव के लिए मास्क पहनने पर जोर दिया है। मेडिकल की जानी-मानी पत्रिका लैंसेट के इस रिसर्च के बाद कि कोरोना का संक्रमण हवा से भी फैलता है, डबल मास्क पहनने की सलाह दी जाने लगी है। ऐसे में डबल मास्क पहनने के बारे में कुछ बातें जाननी जरूरी हैं।

कपड़े और सर्जिकल मास्क का करें इस्तेमाल
स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि डबल मास्क पहनने से कोरोना के संक्रमण के काफी हद तक रोका जा सकता है। कपड़े और सर्जिकल मास्क से बने डबल मास्क को पूरी तरह से चेहरे को ढकने में सक्षम और यह हवा को लीक होने से रोकने में उपयुक्त माना जा रहा है। अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) का डबल मास्किंग के बारे में यही कहना है।

95 प्रतिशत खतरे को कम किया जा सकता है
यूएस सीडीसी ने अपने अध्ययन में पाया है कि यदि कोई व्यक्ति अपने चेहरे पर कपड़े और सर्जिकल मास्क से बने डबल मास्क लगाता है तो वह कोरोना संक्रमण की गिरफ्त में आने के करीब 95 प्रतिशत खतरे को कम कर देता है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के निदेशक डॉक्टर रणदीप गुलेरिया का भी कहना है कि डबल मास्किंग चेहरे को पूरी तरह ढक लेता है। इसे पहनने पर हवा का प्रवेश कर पाना बेहद मुश्किल हो जाता है।

  • इस डबल मास्क को घर में भी बनाया जा सकता है।
  • आप अगर घर में डबल मास्क तैयार कर रहे हैं तो इन बातों का ख्याल जरूर रखें-आप डबल मास्क लगाकर यह देख लें कि आपको सांस लेने में कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है।
  • डबल मास्क लगाने के बाद बातचीत कर यह सुनिश्चित कर लें कि आपको संवाद करने में कोई परेशानी तो नहीं हो रही है।
  • बाहर निकलना है तो कुछ समय के लिए घर में डबल मास्क लगाकर टहल लें।
  • इससे पता चलेगा कि आप सहज मसहूस कर रहे हैं कि नहीं।
  • डबल मास्किंग के लिए आप दो डिस्पोजेबल मास्क का एक साथ उपयोग कर सकते हैं।
  • आप एक डिस्पोजेबल मास्क के ऊपर से एन-95 मास्क लगा सकते हैं।
  • मास्क पर समय-समय पर सैनिटाइजर का छिड़काव करते रहें।
  • मास्क अगर पुराना हो गया है या वह कमजोर हो गया है तो उससे बदल लें।
  • अगर आप घर में हैं तो एक मास्क से आपका काम चल सकता है।
  • हवाई अड्डों और बस स्टैंड जैसी भीड़-भाड़ वाली जगहों पर डबल मास्क जरूर पहनें।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

अस्पतालों में नहीं मिल रहे हैं डोम

युद्धस्तर पर हो रही हैं नियुक्तियां सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस के सेकेंड वेव ने स्वास्थ्य परिसेवा की स्थिति खराब सी कर दी है। आलम आगे पढ़ें »

दो श्मशान और एक कब्रिस्तान बना रही है कोलकाता नगर निगम

कोविड शवों की बढ़ती संख्या बढ़ा रही है प्रशासन की परेशानी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर