ऑनर किलिंग: ईद की शॉपिंग के लिए बेची सोने की चेन…पत्नी को हर हाल में खुश रखना चाहता था नागराजू

हैदराबाद: हैदराबाद का रहने वाला बी नागराजू बहुत खुश था। उसे अपना प्यार मिल गया था। वही प्यार जिसे पाने की तमन्ना उसे 11 साल से थी। सारे धार्मिक बंधन तोड़कर और परिजनों की मर्जी के खिलाफ जाकर उसने सैयद आशरीन सुल्ताना से शादी कर ली। आशरीन ने अपना नाम बदलकर पल्लवी रख लिया। अपना घर-परिवार और सबकुछ छोड़कर नागराजू के पास आई आशरीन को नागराजू कोई कमी महसूस नहीं होना चाहता था। शादी के तीन महीने बीते थे, आशरीन की पहली ईद थी, नागराजू उसे सारी खुशियां देना चाहता था इसलिए बिना उसे बताए अपनी सोने की चेन बेच दी और मिले रुपयों से आशरीन को ईद की शॉपिंग करवाई।

नागराजू शहर के मलकपेट में एक कार शोरूम में सेल्स एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम करता था। शोरूम के एचआर मैनेजर के सतीश ने बताया कि उन्हें हाल ही में नागराजू की शादी के बारे में तब पता चला, जब उन्होंने नागराजू के गले से चेन गायब देखी। सतीश ने कहा, ‘उसने मुझे बताया कि उसने अपनी पत्नी को ईद की खरीदारी के लिए और चारमीनार ले जाने के लिए 25,000 रुपये में एक सोने की चेन बेची थी। सतीश ने कहा कि वह आशरीन से बहुत प्यार करता था। वह बहुत ईमानदार और मेहनती भी था।
जल्दबाजी में नहीं बदली थी यूनिफॉर्म भी
घर के लिए निकलने से पहले नागराजू अपनी यूनिफॉर्म बदलता था, लेकिन बुधवार को उसे घर जाने के लिए देरी हो रही थी, उसकी पत्नी इंतजार कर रही थी इसलिए वह बिना यूनिफॉर्म बदले ही घर के लिए निकल गया। आशरीन नागराजू की बहन के घर पर उसका इंतजार कर रही था। नागराजू जल्दी से अपने ऑफिस से निकला और आशरीन को लेने पहुंच गया। नागराजू ने आशरीन को अपनी बहन के घर से लिया और अपने घर की ओर निकला। पुलिस ने कहा कि स्कूटर सवार हमलावरों सैयद मोबिन अहमद और मोहम्मद मसूद अहमद ने दंपति को सड़क पर रोका और नागराजू पर पहले लोहे की रॉड और फिर चाकू से हमला किया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि दंपति को रोकने के बाद दोनों ने नागराजू को जमीन पर पटक दिया और रॉड से कई बार वार किया और फिर चाकू मारा।
‘आखिरी सांस तक ससुराल में रहूंगी’
युवक और युवती करीब 11 साल से एक दूसरे को जानते थे। दोनों साथ स्कूल और कॉलेज में पढ़े। फिर दोस्ती प्यार में बदली और इसी साल 31 जनवरी में दोनों ने शादी कर ली। बताया गया है कि इस शादी से युवती के घरवाले नाराज थे। उनको गैर धर्म में बेटी का शादी करना ठीक नहीं लगा था और उन्होंने नागराजू की निर्ममता से हत्या कर दी आशरीन ने कहा कि वह अपने भाई को कभी माफ नहीं करूंगी, आखिरी सांस तक ससुराल में रहूंगी।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पानीहाटी में तृणमूल कार्यालय पर बमबारी

पानीहाटी : खड़दह थाना अंतर्गत पानीहाटी के एंजेल नगर इलाके में कुछ समाज विरोधियों ने पहले बमबारी की। इसके बाद बीटी रोड मातारंगी भवन नामक आगे पढ़ें »

ऊपर