पिज्जा-बर्गर की होम डिलीवरी हो सकती है तो घर-घर राशन क्यों नहीं?

नई दिल्ली : केंद्र की ओर से दिल्ली सरकार की ‘घर-घर राशन योजना’ पर रोक लगाने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि ये योजना लागू करने की पूरी तैयारी हो चुकी थी तो फिर आपने दो दिन पहले क्यों रोक लगा दी? केजरीवाल ने कहा कि आपने हमारी योजना ये कहकर खारिज कर दी कि हमने केंद्र से मंजूरी नहीं ली थी। लेकिन हमने केंद्र से इस योजना के लिए 5 बार एप्रूवल लिया था।
सीएम केजरीवाल ने कहा, “अगले हफ्ते से घर-घर राशन योजना शुरू होनी थी। सारी तैयारियां हो चुकी थीं, लेकिन आपने अचानक दो दिन पहले क्यों रोक दी? प्रधानमंत्री जी आज मैं बहुत व्यथित हूं। आज मुझसे कोई भूल हो जाए तो माफ कर देना। प्रधानमंत्री सर, इस स्कीम के लिए राज्य सरकार सक्षम है और हम केंद्र से कोई विवाद नहीं चाहते। हमने इसका नाम मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना रखा था। आपने तब कहा कि योजना में मुख्यमंत्री नाम नहीं आ सकता। हमने आपकी बात मानकर नाम हटा दिया। आपने अब हमारी योजना ये कहते हुए खारिज कर दी कि हमने केंद्र से अनुमति नहीं ली। केंद्र सरकार से इस योजना के लिए हमने 5 बार अनुमति ली।”
पिज्जा की होम डिलीवरी तो राशन की क्यों नहीं?
उन्होंने आगे कहा, “इस देश में अगर स्मार्टफोन, पिज्जा की डिलीवरी हो सकती है तो राशन की क्यों नहीं? आपको राशन माफिया से क्या हमदर्दी है प्रधानमंत्री सर? उन गरीबों की कौन सुनेगा? केंद्र ने कोर्ट में हमारी योजना के खिलाफ आपत्ति नहीं की तो अब खारिज़ क्यों किया जा रहा है? कई गरीब लोगों की नौकरी जा चुकी है। लोग बाहर नहीं जाना चाहते इसलिए हम घर-घर राशन भेजना चाहते हैं।”

शेयर करें

मुख्य समाचार

12 दिनों के अंदर फिर दिल्ली जा रहे हैं शुभेंदु, मिलेंगे नड्डा से

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी 12 दिनों के अंदर ही एक बार फिर दिल्ली जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, आगे पढ़ें »

संभावित कोरोना की तीसरी लहर को लेकर राज्य ने की तैयारी

सरकार बच्चों के लिए बेड की व्यवस्था कर रही है मां को भी रहना होगा अलर्ट कोविड के मामले 32 % से घटकर 4 आगे पढ़ें »

ऊपर