गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर लगे हैं दिल्ली में

Gautam Gambhir

नई दिल्ली : पूर्व क्रिकेटर और पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर प्रदूषण पर हुई बैठक में नहीं आने की खबर आम जनता तक पहुंचने और इंदौर में जलेबी खाने की फोटो वायरल होने के बाद से विरोधियों के निशाने पर हैं। रविवार को दिल्ली के आईटीओ इलाके में गंभीर के गुमशुदगी के पोस्टर लगे हैं। यह पोस्टर पेड़ों पर लगे हैं और इन पर गंभीर की फोटो लगी है। पोस्टर में लिखा है, लापता, क्या आपने इन्हें कहीं देखा है। आखिरी बार इंदौर में जलेबी खाते हुए देखे गए थे। पूरी दिल्ली इन्हें ढूंढ रही है।

क्या है विवाद?

बता दें दरअसल, दिल्‍ली-एनसीआर में प्रदूषण के खतरनाक हालात में पहुंचने पर शुक्रवार को संसदीय समिति की बैठक रखी गई थी। शहरी विकास मंत्रालय से संबंधित संसदीय समिति की इस मीटिंग में कई सांसद और तीनों नगर निगमों के मुखिया ही नहीं पहुंचे। इसी बीच, भारत-बांग्लादेश टेस्ट क्रिकेट मैच में कमेंट्री करने पहुंचे गौतम की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई, जिसमें वह अपने साथियों वीवीएस लक्ष्मण और जतिन सप्रू के साथ इंदौरी पोहे-जलेबी चखते हुए नजर आ रहे थे। इसको लेकर आम आदमी पार्टी ने गंभीर पर तंज कसते हुए ट्विटर पर लिखा, ”क्या कमेंट्री बॉक्स तक ही सीमित है प्रदूषण को लेकर गंभीरता?”

कामों का ब्यौरा दिया ट्विटर पर

इसके साथ ही उन्होंने लिखा “मेरे संसदीय क्षेत्र और शहर के प्रति प्रतिबद्धताओं को वहां हो रहे काम से आंका जाना चाहिए। मैंने पिछले 6 महीने में मेरे मतदाताओ को सर्वश्रेष्ठ देने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी। गंभीर ने अपने कार्यकाल के दौरान किए गए विभिन्न कार्यों का ब्यौरा भी ट्विटर पर साझा किया था।”

हालांकि गंभीर ने इस मामले पर अपनी सफाई देते हुए ट्वीटर पर लिखा, ”मेरा काम खुद बोलेगा ! अगर मुझे गाली देने से दिल्ली का प्रदूषण कम होता है तो आप मुझे जी भरकर गाली दीजिए।’

मालूम हो कि इस बैठक में सिर्फ चार सांसद जगदंबिका पाल, हसनैर मसूदी, सी आर पाटिल और संजय सिंह ही शामिल हुए थे जबकि पर्यावरण मंत्रालय की तरफ से डिप्टी सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी ही पहुंचे। डीडीए की तरफ से भी जूनियर अधिकारी ही आए। बड़े अधिकारियों के बैठक में न पहुंचने से इस बैठक को टालना पड़ा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अध्यापिका के पद से बैशाखी का इस्तीफा

कोलकाता : मिली अल-अमीन कॉलेज की अध्यापिका के पद से बैशाखी बंद्योपाध्याय ने इस्तीफा दे दिया है। गुरुवार को शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को मेल आगे पढ़ें »

33वां मूर्ति देवी पुरस्कार से सम्मानित किए जाएंगे कवि डॉ. विश्वनाथ प्रसाद तिवारी

नयी दिल्ली : साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष और जाने माने कवि-आलोचक डॉ. विश्वनाथ प्रसाद तिवारी को प्रतिष्ठित 33वें मूर्तिदेवी पुरस्कार के लिए चुना गया आगे पढ़ें »

ऊपर