‘दिल्ली कूच’ पर अब भी अड़े किसान, 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल बनाने की तैयारी में पुलिस

नयी दिल्ली : केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के नए कृषि कानूनों के विरोध में गुरुवार को पंजाब से ‘दिल्ली कूच’ के लिए चले किसानों का काफिला तमाम रुकावटों को दूर करते हुए अब राजधानी दिल्ली के पास पहुंच गया है। ऐसे में अब दिल्ली पुलिस ने राज्य सरकार से शहर के 9 स्टेडियम को अस्थाई जेल में तब्दील करने की इजाजत मांगी है। अगर दिल्ली में प्रदर्शन बढ़ता है तो किसानों को इन स्थानों पर लाया जा सकता है। वहीं आम आदमी पार्टी के राघव चड्ढा ने बताया कि राज्य सरकार को दिल्ली पुलिस की अस्थाई जेल बनाने की अपील को ठुकरा देना चाहिए। किसान अपने हक की बात कर रहे हैं वो कोई आतंकी नहीं हैं।
जंतर मंतर जाने पर अड़े किसान
मालूम हो कि पंजाब से चले किसान हरियाणा के रास्ते दिल्ली आ रहे हैं। देर रात तक किसान पानीपत तक पहुंचे थे, अब दिल्ली सीमा के कुछ ही करीब हैं। शुक्रवार सुबह पुलिस और किसानों के बीच सिंधु सीमा पर बहस हुई, पुलिस ने किसानों को वापस जाने के लिए कहा, लेकिन किसानों ने वापस जाने से इनकार कर दिया और उन्होंने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्यवाई में किसानों पर लाठीचार्ज किया, पानी की बौछार फेंकी और फिर आंसू गैस के गोले भी दागे। इस ही कारण अंबाला-पटियाला सीमा पर किसानों और पुलिस के बीच तनाव बढ़ गया। अब किसान दिल्ली में रामलीला मैदान-जंतर मंतर जाने पर अड़ गए हैं।
अब सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे : किसान
वहीं कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कह दिया है कि सरकार ने किसानों को 3 दिसंबर को बातचीत के लिए बुलाया है। हालांकि, किसानों का कहना है कि वो अब सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात करेंगे। किसानों के प्रदर्शन के कारण सीमा पर जाम की स्थिति है और हर वाहन की तलाशी भी ली जा रही है। पुलिस को डर है कि किसान वाहनों में छोटे-छोटे समूह के रूप में आ सकते हैं। यही कारण है कि पुलिस इतनी सख्ती बरत रही है। इतना ही नहीं कुछ मेट्रो स्टेशन के एंट्री और एग्जिट को भी बंद कर दिया गया है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

tmc

बौखला उठे हैं भाजपा प्रवक्ता, मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ रहे हैं

तृणमूल को बांग्लादेशी पार्टी कहा, प्रवक्ता को बंगलादेशी सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : जैसे - जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है वैसे - वैसे भाजपा में बौखलाहट आगे पढ़ें »

मुख्यमंत्री के साथ हुए व्यवहार पर नरेंद्र मोदी ने एक शब्द नहीं कहा – तृणमूल

पीएम के रवैये पर तृणमूल ने जताया खेद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ममता आगे पढ़ें »

ऊपर