गांव के लिए नहीं है कोई सड़क, फिर भी रिकॉर्ड 4 घंटे में हुआ पूरे गांव का टीकाकरण

बांडीपोर: उत्तरी कश्मीर के बांडीपोर जिले के वियन गांव तक जाने के लिए कोई सड़क नहीं है। यहां स्वास्थ्य सेवाएं भी नहीं हैं। आजादी के 73 साल बाद भी ये गांव इन सभी सुख सुविधाओं से वंचित है, लेकिन स्वास्थ्य कर्मियों ने रिकॉर्ड 4 घंटें के अंदर इस पूरे गांव का का टीकाकरण कर दिया। राज्य में 45 साल से ऊपर के व्यक्तियों का टीकाकरण बड़े पैमाने पर जारी है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने 30 जून तक प्रदेश के 45 साल से अधिक के सभी लोगों का 100 फीसदी टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा है। इस लक्ष्य के तहत प्रशासन ने पहले चरण में दुर्गम इलाकों में अलग थलग पड़े छोटे छोटे गांवों में टीकाकरण करने को प्राथमिकता दी है।

इस क्रम में जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर वियन गांव को चुना गया। इस गांव के लोगों ने बताया कि ये गांव सबसे नजदीकी सड़क से कई घंटे पैदल की दूरी पर है। इसके बाद वैक्सीन लाने वाली मेडिकल टीम के लोगों ने गांव तक का यह फांसला चार घंटे पैदल चलकर पूरा किया।

गांव तक पहुंचने के लिए टीम को घने जंगलो, ऊंचे पहाड़ी इलाकों और नदी नालों को पार करके जाना पड़ा। गांव के लिए सड़क संपर्क बिलकुल भी नहीं है। सर्दी के समय में तो पूरा इलाका पूरी तरह से कट जाता है। इसलिए ये गांव कोरोना वायरस की दूसरी लहर में संक्रमण से बचा रहा। स्थानीय निवासी नजीर अहमद ने कहा कि जिस तरह से स्वास्थ्य कर्मियों ने कुछ घंटों में सबको टीका लगाया, ये काम काफी सराहनीय है। अब लग रहा है कि सरकार हम लोगों के लिए चिंतित है। विदित हो कि वियन गांव बांडीपोर जिले में 100 फीसदी वैक्सीनेशन के तहत आने वाला पहला गांव बन गया है, लेकिन अभी भी इस पूरे जिले में बहुत काम बाकी है।
शेयर करें

मुख्य समाचार

हिंसा के खिलाफ डॉक्टरों ने किया प्रदर्शन

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के आह्वान पर राज्य में भी डॉक्टरों ने अपनी बिरादरी के सदस्यों के खिलाफ हिंसा से निपटने के लिए आगे पढ़ें »

बारिश ने छीन ली फैंस के चेहरे से मुस्कान

साउथैम्पटन: भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के पहले दिन का खेल शुक्रवार को लगातार बारिश के कारण नहीं हो पाया। आज पूरे आगे पढ़ें »

ऊपर