चाचा-भतीजा की लड़ाई में LJP का सिंबल हुआ फ्रीज, चुनाव आयोग ने लिया फैसला

नई दिल्ली : लोक जन शक्ति पार्टी में चिराग पासवान और उनके चाचा पशुपति कुमार पारस के बीच चल रहे विवाद में नया मोड़ आ गया है। केंद्रीय चुनाव आयोग ने दोनों गुटों के बीच चल रहे टकराव में हस्तक्षेप करते हुए पार्टी के चुनाव चिह्न ‘बंगला’ को फ्रीज कर दिया है। इस फैसले के बाद विवाद सुलझने तक कोई भी गुट इस सिंबल को चुनावों में इस्तेमाल नहीं कर पाएगा।
चाचा पारस के नेतृत्व में हुआ ‘तख्ता पलट’
बताते चलें कि लोक जन शक्ति पार्टी के संस्थापक और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन के बाद पार्टी के 5 सांसदों ने बगावत कर दी थी। बागी सांसदों के इस गुट का नेतृत्व चिराग पासवान के चाचा पशुपति कुमार पारस कर रहे थे। उनके नेतृत्व वाले गुट ने खुद को असली लोक जन शक्ति पार्टी बताते हुए स्पीकर से लोक सभा में जगह देने की मांग की, जिसे स्वीकार कर लिया गया। इसके बाद पशुपति कुमार पारस को केंद्रीय कैबिनेट में भी शामिल कर लिया गया।
बिहार के उपचुनाव बने रण के नए मैदान
वहीं रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान अपने नेतृत्व वाली पार्टी को ‘असली’ बताते हुए बिहार में पदयात्राएं निकाल रहे हैं। दोनों के बीच चल रहे टकराव का ताजा रण बिहार में हो रहे उपचुनाव बन गए हैं। बिहार में तारापुर और कुशेश्वर सीट पर उपचुनाव होने हैं। चिराग पासवान ने इन दोनों सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने की घोषणा कर दी है। पशुपति पारस के गुट ने इस घोषणा को गलत बताया, जिसके बाद असली-नकली पार्टी का मुद्दा चुनाव आयोग में पहुंच गया था।
अब स्वतंत्र उम्मीदवारों के रूप में लड़ना होगा
चुनाव आयोग के ताजे फैसले के बाद अब दोनों में कोई भी गुट लोक जन शक्ति पार्टी के चुनाव चिह्न ‘बंगला’ का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। अगर वे उपचुनाव या बाद में होने वाले किसी चुनाव में अपने कैंडिडेट उतारते हैं तो उन्हें स्वतंत्र उम्मीदवार के चुनाव लड़ना होगा। माना जा रहा है कि चाचा-भतीजे के बीच की राजनीतिक लड़ाई अभी और लंबी चलेगी, जिसका नुकसान पार्टी को भुगतना पड़ सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ब्रेकिंग : बांग्लादेश में हिंसा फैलाने वाला मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार

कोलकाता/ बांग्लादेश : बांग्लादेश  में हिंसा फैलाने के मामले में मुख्य अभियुक्त इकबाल को बांग्लादेश पुलिस ने किया गिरफ्तार । कॉक्स बाजार से उसकी हुई आगे पढ़ें »

ऊपर