दोस्ती हो तो ऐसी : तड़पते दोस्त के लिए 1400 KM का सफर तय कर लाया ऑक्सीजन

नई दिल्ली : देश में कोरोना की दूसरी लहर बेहद जानलेवा हो चुकी है। अस्पतालों में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन की भारी कमी देखी जा रही है। वहीं कई अस्पतालों ने ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों को भर्ती करने से भी मना कर दिया है। इसके चलते लोग मर रहे हैं। इस बीच दोस्ती और इंसानियत की मिसाल पेश करते हुए एक शख्स ने जो किया वह सराहनीय है। दरअसल 38 साल के स्कूल टीचर देवेंद्र, अपने दोस्त रंजन अग्रवाल के लिए एक ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर झारखंड के बोकारो से नोएडा पहुंचे। लगभग 24 घंटों तक 1400 किलोमीटर गाड़ी चलाकर वह दोस्त की मदद को पहुंचे। खबर के अनुसार देवेंद्र को रास्ते में एक बार बिहार और एक बार यूपी पुलिस ने रोका लेकिन मामला समझने के बाद उन्हें जाने दिया गया। हालांकि बोकरा में भी ऑक्सीजन सिलेंडर मिलना आसान नहीं था। देवेंद्र ने शहर में कई ऑक्सीजन प्लांट और सप्लायर से पता किया, लेकिन उन्होंने कहा कि उन्हें फिर से खाली सिलेंडर ही मिल सकेगा। आखिर में वह बालीडीह औद्योगिक क्षेत्र में झारखंड स्टील ऑक्सीजन प्लांट के संचालक तक पहुंचे। तकनीशियन ने उन्हें पूरा सिक्योरिटी डिपॉजिट लेकर सिलेंडर देने पर सहमति जताई। उन्हें 10000 का सिलेंडर और 400 की ऑक्सीजन मिली। देवेंद्र ने बताया कि उनके दोस्त अब बेहतर हैं और जल्द डिस्चार्ज हो जाएंगे।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

मलेशिया में 125 साल बाद मिला अत्‍यंत दुर्लभ उल्‍लू, नारंगी रंग की हैं आंखें

क्‍वालालंपुर : मलेशिया के वर्षा वनों में पाए जाने वाले एक दुर्लभ उल्‍लू को 125 साल बाद फिर से पाया गया है। नारंगी रंग की आगे पढ़ें »

राशन कार्ड हो या न हो, केजरीवाल सरकार हर गरीब को देगी 10 किलो राशन मुफ्त

नई दिल्ली : कोरोना की दूसरी लहर देश में आफत बनकर आई है, लेकिन बीते कुछ दिनों से संक्रमण के मामलों में कमी देखी जा आगे पढ़ें »

ऊपर