देश में एक और टीका: मॉडर्ना की वैक्सीन को डीसीजीआई से मिली आपात इस्तेमाल की मंजूरी

नई दिल्लीः अमेरिकी वैक्सीन कंपनी ‘मॉर्डना’ को डीसीजीआई से आपात इस्तेमाल की मंजूरी मिल गई है। इसकी जानकारी नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल ने प्रेस वार्ता के दौरान दी। पॉल ने कहा कि मॉडर्ना के आने के बाद अब देश में कुल चार टीके हो गए हैं। बता दें कि कोवाक्सिन, कोविशील्ड, स्पुतनिक को पहले ही मंजूरी मिल चुकी है। इसके अलावा डीसीजीआई ने दवा निर्माता कंपनी सिप्ला को भारत में मॉडर्ना वैक्सीन के आयात की मंजूरी दे दी। सिप्ला ने एक दिन पहले ही अमेरिकी वैक्सीन के भारत में आयात और उसकी मार्केटिंग की अनुमति मांगी थी।
मॉडर्ना की वैक्सीन आरएनए पर निर्भर  
बता दें कि मॉडर्ना की वैक्सीन मैसेंजर आरएनए पर निर्भर करती है, जो कोशिकाओं को कोरोना वायरस के खिलाफ इम्यूनिटी तैयार करने के लिए प्रोग्राम करते हैं। इस वैक्सीन को लेकर किए गए क्लिनिकल परीक्षण के परिणाम बताते हैं कि ये वैक्सीन कोरोना संक्रमण के लक्षणों वाले मामलों के खिलाफ 90 फीसदी से ज्यादा कारगर है। इसके अलावा नेशनल टास्क फोर्स के प्रमुख वीके पॉल भी कह चुके हैं कि सरकार लगातार विदेशी वैक्सीन निर्माताओं के संपर्क में है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रीता बहुगुणा के बेटे को टिकट मिली तो वे सांसदी छोड़ने को हैं तैयार

लखनऊः उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के तमाम नेता पाला बदल चुके हैं। ऐसे में चर्चा है कि भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी आगे पढ़ें »

ऊपर