सावधान! अगर आप करते हैं Google Map का इस्तेमाल, तो कट सकता है 5 हजार का चालान

नई दिल्ली: आज के दौर में किसी से रास्ता पूछने की बजाय नेविगेशन के जरिए मंजिल तक पहुंचना लोग ज्यादा पसंद करते हैं। यही वजह है कि दिनों दिन Google Map का इस्तेमाल बढ़ता ही जा रहा है, लेकिन अगर आप ड्राइविंग के दौरान हाथ में मोबाइल लेकर गूगल मैप का इस्तेमाल करते हैं तो ये आपकी जेब पर भारी पड़ सकता है।

कट सकता है 5 हजार तक का चालान

आमतौर पर लोग ड्राइविंग के दौरान गूगल मैप का नेविगेशन ऑन कर लेते हैं। इसके जरिए आपको रूट के बारे में पता चल जाता है, और अगर कहीं जाम लगा है तो इसकी जानकारी भी पहले ही हो जाती है। समय रहते दूसरे रास्ते का चुनाव कर लेते हैं। ये सब तो गूगल मैप के फायदे हैं लेकिन कुछ नुकसान भी हैं। आपने अगर अपनी गाड़ी में डैश बोर्ड पर मोबाइल होल्डर नहीं लगवाया है और हाथ में मोबाइल लेकर गूगल मैप का इस्तेमाल कर रहे हैं तो 5 हजार रुपये तक का चालान काटने का प्रावधान है।

मोटर व्हीकल एक्ट में चालान का प्रावधान

अभी हाल ही में दिल्ली में एक शख्स का चालान पुलिस ने काटा था। कार चालक ने तर्क दिया था कि वो तो किसी से बात नहीं कर रहा था तो उसका चालान क्यों काटा गया। दिल्ली पुलिस ने बताया कि मोबाइल होल्डर के बजाय डैशबोर्ड या हाथ में पकड़कर गूगल मैप का इस्तेमाल करना ट्रैफिक रूल्स के खिलाफ है क्योंकि ऐसा करने से ड्राइविंग के दौरान ध्यान भंग होने की आशंका बनी रहती है। ये मामला लापरवाही से ड्राइविंग की श्रेणी में आता है।

 मोबाइल होल्डर का इस्तेमाल करें

अगर आप ड्राइविंग के दौरान गूगल मैप का इस्तेमाल करते हैं तो इसके लिए अपने वाहन में मोबाइल होल्डर फिट कराएं। मोबाइल होल्डर में फोन लगाकर गूगल मैप का इस्तेमाल करना नियम कानून का उल्लंघन नहीं माना जाता है। मोबाइल होल्डर बाइक में 200 रुपये तक और कार में 1 हजार रुपये तक लग जाता है। अगर आप समय रहते मोबाइल होल्डर को फिट करा लेंगे तो 1 हजार रुपये तक खर्च करके 5 हजार रुपये का चालान कटने से बच सकते हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

गर्मी बढ़ी, काेलकाता में तापमान 33 डिग्री के पार

जिलों में तपिश बढ़ी, मिदनापुर-झाड़ग्राम में 37 डिग्री मार्च-अप्रैल जैसी गर्मी का अहसास कोलकाता : बसंत उत्सव जाते ही महानगर का मौसमी मिजाज बदल गया है। गुरुवार आगे पढ़ें »

सीबीआई, ईडी से डरने वाला नहीं हूं – अभिषेक

भाजपा पर तंज : अगर ‘जय बांग्ला’ हमें बांग्लादेश समर्थक बताता है तो भाजपा का ‘सोनार बांग्ला’ के बारे में क्या कहना है सन्मार्ग संवाददाता ठाकुरनगर : आगे पढ़ें »

ऊपर