’70 साल से कश्मीर में लोकतंत्र परिवारवाद की गिरफ्त में था’

श्रीनगर : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिन के जम्मू-कश्मीर दौरे पर हैं। जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद केंद्र शासित प्रदेश की यह उनकी पहली यात्रा है। शनिवार को वे श्रीनगर पहुंचे और सबसे पहले आतंकवादियों के हमले में शहीद एक पुलिस अधिकारी के परिजनों से मिले। इसके बाद उन्होंने घाटी में सुरक्षा स्थिति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की, और फिर युवाओं से संवाद किया।
आज पत्थरबाज अदृश्य हो गए हैं

इस दौरान शाह ने कहा, ‘कश्मीर में शांति की शुरुआत हुई है। यहां के युवा आज विकास की बात कर रहे हैं। अब यहां से पत्थरबाज अदृश्य हो गए हैं। 5 अगस्त 2019 के बाद J&K में पारदर्शिता आई है। अब लोगों को रोजगार और शिक्षा मिल रही है। इस बदलाव की बयार को कोई रोक नहीं सकता है। इस तरह के कार्यक्रम जरूरी हैं। कश्मीर की 70 प्रतिशत आबादी युवा है। अगर इस आबादी को विकास के काम करने में जोड़ दिया जाए तो कश्मीर की शांति में कोई खलल नहीं पहुंचा सकता है।’

‘J&K को मिल रहा सबसे ज्यादा पैसा

अमित शाह ने बताया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीर की सबसे ज्यादा मदद की है। हमारी 4 लाख लोगों को रोजगार देने की योजना है। आज सभी स्टेट से ज्यादा पैसा जम्मू-कश्मीर को दिया जा रहा है। 12 हजार करोड़ का इन्वेस्टमेंट जम्मू-कश्मीर को दिया गया है। इसी कारण जम्मू-कश्मीर के इन्फ्रास्ट्रक्चर में भी बड़ा बदलाव आया है।

 

 

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

न्यूटाउन में चल रही नाका चेकिंग

कोलकाताः सड़क हादसों को कम करने के लिए बिधाननगर पुलिस के नव दिगंत ट्रैफिक गार्ड अब सक्रिय है। वे नालबन के सामने कोलकाता के रास्ते आगे पढ़ें »

ऊपर