कुछ प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू और वेंटिलेटर बेड्स की किल्लत

नई दिल्लीराजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस के मामले एक बार फिर बढ़ने लगे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से दिल्ली के कई बड़े प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू और वेंटिलेटर बेड्स की किल्लत हो गई है। हालांकि दिल्ली सरकार ने कहा है कि राज्य में आज बेड्स की उपलब्धता की समीक्षा की जाएगी और बेड्स का इंतज़ाम किया जाएगा। आईसीयू और वेंटिलेटर बेड्स की किल्लत के बाद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है, सरकारी अस्पतालों में बहुत सारे आईसीयू और वेंटिलेटर बेड्स खाली हैं। प्राइवेट में भी दो या तीन अस्पतालों में ही कमी हुई है इसलिए आज बेड्स का इंतज़ाम कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘बेड्स की किल्लत दिल्ली में बढ़ते मामलों की वजह से और अन्य राज्यों से आ रहे मरीजों की वजह से है।’

दिल्ली में इस साल एक दिन में सबसे ज्यादा मामले दर्ज

गौरतलब है कि दिल्ली में पिछले दिन कोरोना संक्रमण के 1904 नए मामले सामने आए जो पिछले करीब साढ़े तीन महीने में एक दिन में सामने आए सर्वाधिक मामले हैं। इसके बाद राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर बढ़कर 2.77 फीसदी हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, इसी अवधि में कोविड-19 के छह और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 11,012 तक पहुंच गई है।

राजधानी में अब 7,545 मरीज उपचाराधीन

स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि 1,904 नए मामलों के साथ ही अब तक शहर में 6,59,619 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं, जबकि 6.40 लाख से ज्यादा मरीज संक्रमणमुक्त हो चुके हैं। विभाग ने कहा है कि पिछले साल 13 दिसंबर के बाद से यह सर्वाधिक मामला है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 13 दिसंबर 2020 को दिल्ली में संक्रमण के 1,984 मामले सामने आये थे। राजधानी में अब 7,545 मरीज उपचाराधीन हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक परीक्षा को लेकर अनिश्चियता, मगर पर्षद ने शुरू की तैयारी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना काल के बीच राज्य में सभी सरकारी स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां दे दी गयी हैं। इस बीच, राज्य में 1 आगे पढ़ें »

दिल्ली ने मुंबई को 6 विकेट से हराया, मिश्रा ने झटके 4 विकेट, अर्धशतक से चूके धवन

चेन्नई : आईपीएल 2021 के 13वें मैच में दिल्ली कैपिटल्स ने मुंबई इंडियंस को 6 विकेट से शिकस्त दी। दिल्ली की यह लगातार दूसरी जीत आगे पढ़ें »

ऊपर