जानें DRDO की एंटी कोरोना दवा 2DG कैसे करेगी काम?

नई दिल्ली: डीआरडीओ की कोविड रोधी दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-डीजी) को आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन की मौजूदगी में लॉन्च किया गया। डीसीजीआई ने डीआरडीओ की कोविड रोधी दवा 2-डीऑक्सी-डी-ग्लूकोज (2-डीजी) को हाल ही में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी थी। डीआरडीओ ने इस दवा को डॉ रेड्डीज लैबोरेटरीज के साथ मिलकर तैयार किया है।

दवा कैसे काम करती है?

डीआरडीओ के डॉक्टर एके मिश्रा ने बताया, “किसी भी टिशू या वायरस के ग्रोथ के लिए ग्लूकोज का होना बहुत जरूरी होता है लेकिन अगर उसे ग्लूकोज नहीं मिलता तो उसके मरने की उम्मीद बढ़ जाती है। इसी को हमने मिमिक करके ऐसा किया कि ग्लूकोज का एनालॉग बनाया। वायरस इसे ग्लूकोज समझ कर खाने की कोशिश करेगा, लेकिन ये ग्लूकोज नहीं है, इस वजह से वायरस की मौत हो जाएगी। यही इस दवाई का बेसिक प्रिंसिपल है।”

इस दवा से ऑक्सीजन की कमी भी नहीं होगी

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस दवा से ऑक्सीजन की कमी भी नहीं होगी, जिन मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत है उन्हें इसको देने के बात फायदा होगा और वायरस की मौत भी होगी, जिससे इंफेक्शन का चांस कम होगा और मरीज जल्द से जल्द रिकवर होगा।

डॉक्टर एके मिश्रा ने बताया कि इस दवा के तीसरे फेज़ के ट्राएल के अच्छे नतीजे आए हैं। जिसके बाद इसके इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली है। उन्होंने कहा कि हम डॉ रेड्डीज के साथ मिलकर ये कोशिश करेंगे कि हर जगह और हर नागरिक को मिले।

गंभीर किस्म के मरीज़ों को भी दी जा सकती है दवा

एके मिश्रा का कहना है कि इस दवाई को हर तरह के मरीज को दिया जा सकता है. हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीज हो या गंभीर मरीज, सभी को इस दवाई को दी जा सकेगी। बच्चों के इलाज में भी ये दवा कारगर होगी. हालांकि उन्होंने कहा कि बच्चों के लिए इस दवा की डोज अलग होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हावड़ा में कम नहीं हो रहा राजीव के प्रति रोष

तृणमूल कर्मियों ने कहीं पुतला फूँका तो कहीं नारेबाजी की सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : मुकुल राय के तृणमूल में शामिल होने के बाद अब राजीव बनर्जी के आगे पढ़ें »

‘ट्रांसजेंडर होने के कारण नहीं हुआ मेरा कोविड टेस्ट’

मानवी ने की शिकायत, कहा, मानसिक तौर पर टूट गयी हूं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : केवल ट्रांसजेंडर महिला होने के कारण मेरा कोविड टेस्ट नहीं हो आगे पढ़ें »

ऊपर