नाखूनों का भी है कोरोना से संबंध, ये लक्षण दिखें तो समझ जाइए अपना स्टेटस

नई दिल्ली: पूरी दुनिया कोरोना संक्रमण से जूझ रही है। भारत के अलग-अलग राज्यों में कोरोना वायरस  की दूसरी, तीसरी और चौथी लहर चल रही है। ऐसे में सभी लोग घरों के अंदर रहकर अपना ध्यान रख रहे हैं। इसमें भी कोई दोराय नहीं है कि कोरोना के लक्षण भी बहुत तेजी से बदल रहे हैं।
गौर से देखें अपने नाखून
जो सिंप्टम स्टडी ऐप के प्रमुख प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने ट्विटर पर एक पोस्ट लिखकर नाखूनों पर गौर करने के लिए कहा है। उन्होंने ट्विटर पर पूछा है कि क्या आपके नाखून अजीब नजर आ रहे हैं? दरअसल, उनकी स्टडी के मुताबिक, अब कोविड नेल्स देखकर कोरोना की स्थिति को समझा जा सकता है। जिन लोगों को कभी कोरोना संक्रमण हो चुका है, उनमें से कई लोगों के नाखूनों पर एक लाइन उभर आती है।
कुछ देरी से नजर आएगा यह लक्षण
प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने लिखा- कोविड संक्रमण होने के बाद नाखून ठीक हो जाते हैं। इस रिकवरी में नाखूनों पर एक लाइन बन जाती है। इससे आपकी त्वचा या नाखून के आस-पास कहीं भी कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। उन्होंने यह भी कहा है कि नाखूनों की ग्रोथ अमूमन 6 महीने के अंतराल पर होती है। इसलिए नाखूनों में यह लक्षण दिखने में थोड़ा समय लग सकता है।
गंभीर मामलों में अलग है लक्षण
आमतौर पर नाखूनों के रंग या बनावट में कोई भी फर्क कैल्शियम या विटामिन की कमी के कारण नजर आता है, लेकिन प्रोफेसर टिम के अनुसार, यह बदलाव कोविड-19 संक्रमण के कारण भी होता है। अगर किसी मरीज को संक्रमण गंभीर अवस्था में होता है तो नाखूनों का शेप भी बदल सकता है। डायबिटीज, थायरॉइड या आयरन की कमी होने पर भी नाखूनों में बदलाव नजर आ सकता है।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजाना आ रहे हैं सैकड़ों शव, चरमरा रही है श्मशान घाटों की व्यवस्था

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर का प्रकाेप कुछ इस कदर बढ़ा है कि श्मशान घाटों में रोंगटे खड़े करने वाली तस्वीरें देखने को आगे पढ़ें »

ट्रैफिक गार्ड के ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर का मरम्मत कराएगी पुलिस

कोविड के खिलाफ जंग में लालबाजार ने कसी कमर सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना की दूसरी लहर के दौरान शहरवासियों की हालत खराब है। अस्पताल में बेड आगे पढ़ें »

ऊपर